- रेनकट भरने के

लिए उठाई कुदाल

patna@inext.co.in

CHAMPARAN/PATNA: डीएम रमण कुमार शनिवार को प्रशासनिक टीम के साथ बाढ़ प्रभावित पताही प्रखंड के देवापुर खोड़ीपाकड़ घाट पर पहुंचे. वहां तटबंध पर हुए रेनकट को देखा तो खड़े मजदूरों से कुदाल ले ली और बोरी में बालू भरकर रेनकट वाले स्थान पर देने लगे. फिर क्या था? जो लोग रेनकट का तमाशा देख रहे थे वे भी डीएम के साथ काम करने लगे. कुछ देर में तात्कालिक तौर पर बांध को ठीक कर लिया गया. इसके बाद डीएम ने विभागीय अभियंता व प्रशासनिक अधिकारियों को हिदायत दी कि किसी भी स्थिति में तटबंध टूटना नहीं चाहिए. यहां के बाद देर शाम ढाका प्रखंड में लालबकेया के कहर से लोगों को बचाने की कवायद में जुटे. सराठा गांव में एनडीआरएफ की टीम के साथ पहुंचे. टीम के अधिकारियों से तत्काल ग्रामीणों के समक्ष राहत व बचाव कार्य करने की कवायद तेज की. डीएम ने कहा कि आम आदमी की ¨जदगी की रक्षा सबसे अहम है. आम लोग बांध को लेकर ¨चतित थे और काम कर रहे थे. मैंने भी श्रमदान किया. यह मेरा नैतिक दायित्व था. ऐसा सबको करना चाहिए. प्रशासनिक अधिकारियों को आपात स्थिति में पद की ठसक से बाहर निकलकर आम आदमी के साथ कदमताल करना चाहिए.