-देशभर के 147 विश्वविद्यालयों को भेजा गया है निमंत्रण

-अब तक जीएमवीएन के पास 42 पैकेज हुए कंफर्म

देहरादून, ऋषिकेश में एक से सात मार्च तक आयोजित होने वाले इंटरनेशनल योगा फेस्टिवल (आईवाईएफ-20199) के लिए तैयारियां जोरों पर हैं. इसके लिए गढ़वाल मंडल विकास के पास बकायदा देश-विदेश से आने वाले योग साधकों के 42 पैकेज भी कंफर्म हो चुके हैं. बताया जा रहा है कि इस बार फेस्टिव में देशभर की करीब 147 युनिवर्सिटीज को आमंत्रित किया गया है. योग साधकों की संख्या 10 हजार तक पहुंचने की उम्मीद है.

पहली बार योगा चैंपियनशिप

इस बार योगा चैंपियनशिप का आयेाजन भी किया जा रहा है. चैंपियन टीम और रनरअप टीम को ट्रॉफियां प्रदान की जाएंगी. उत्तराखंड से पतंजलि योग पीठ, गुरुकुल कांगड़ी, शांतिकुंज व गढ़वाल विवि से भी स्टूडें्स को आमंत्रित किया गया है. स्टूडेंट्स के लिए एक हजार रुपए की इंट्री फीस 7 दिनों के लिए ि1नर्धारित की गई है.

जयपुर व झारखंड विवि से मंजूरी

आयोजकों का कहना है कि इस बार 10 हजार योग साधकों का जमावाड़ा देखने को मिलेगा, जबकि पिछले वर्ष यह संख्या 2700 के आस-पास रही है. 147 विवि में जयपुर व झारखंड के विवि ने अपनी रजामंदी दे दी है. गढ़वाल मंडल विकास निगम के अधिकारियों के अनुसार योगा चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में चार टीमें और फाइनल में दो टीमों का मुकाबला होगा.

कई विदेशी आएंगे

इस बार देश-दुनिया के नामचीन व प्रतिष्ठित योगाचार्यो के पहुंचने की उम्मीद है. जिनमें सउदी अरब की नौफ मरवाई शामिल हैं. हाल में योगा प्रमोशन के लिए भारत सरकार ने उन्हें पद्मश्री अवॉर्ड से नवाजा है. इसके अलावा चीन में भारतीय मूल के मौजी बाबा भी शामिल हैं. जिनके साथ एक वक्त पर 1400 फॉलोअर चलते हैं और उन्हें जेड-श्रेणी की सिक्योरिटी मुहैया है. ट्रेडिशन योगा में योगी जयदेवन, हठ योगा में योगी जीतानंद, गोकुलजी, लींजर योगा में ऊषा माताजी, कॉस्मिक मिडिटिएशन में सुभाष पत्रीजी, डिवाइन लेक्चर में ओपी तिवारी आदि दुनियाभर के योगाचार्य व एक्सप‌र्ट्स को आमंत्रण भेजा गया है.

चीफ गेस्ट अभी तय नहीं

इंटरनेशनल योगा फेस्टिव में कौन उद्घाटन करेगा, स्पष्ट नहीं हो पाया है. इसके लिए राष्ट्रपति से लेकर पीएम तक को आमंत्रित किए जाने के प्रयास किए जा रहे हैं. लेकिन लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता के कारण पीएम के योगा फेस्टिव में पहुंच पाने की संभावनाएं कम नजर आ रही हैं.