-कानपुर, बुंदेलखंड क्षेत्र के 20,000 से अधिक बूथ अध्यक्षों के साथ करेंगे मंत्रणा, 17 जिलों से आएंगे कार्यकर्ता

kanpur@inext.co.in
KANPUR : लोकसभा चुनाव में एक बार फिर जीत का परचम फहराने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वेडनेसडे को निरालानगर रेलवे ग्राउंड पर कानपुर-बुदेलखंड के बूथ अध्यक्षों को मंत्र देंगे. 'अबकी बार, फिर मोदी सरकार' नारे के साथ भाजपा चुनाव के रण में उतरेगी. निरालानगर रेलवे ग्राउंड पर ट्यूजडे दोपहर से ही बूथ अध्यक्ष पहुंचना शुरू हाे गए हैं.

शाह की कानपुर से शुरुआत
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बूथ अध्यक्षों से मंत्रणा की शुरूआत कानपुर से ही कर रहे हैं. कानपुर राजनीतिक गलियारों में विभिन्न दलों के लिए शुभ रहा है. लोकसभा चुनाव में विजय हासिल करने के लिए बूथ का मैनेजमेंट करना सबसे अहम है. यही वजह है कि निरालानगर रेलवे मैदान से आज भाजपा अध्यक्ष बूथ अध्यक्षों को बूथ की संरचना को खंगालने के साथ ही वह मंत्र भी देंगे, जिससे कि वह हर परिस्थिति के लिए तैयार हो जाएं.

नारा लिखा 'फिर मोदी सरकार'
रेलवे ग्राउंड में जो मंच सजाया गया है, उसमें भी सिर्फ एक ही नारा 'अबकी बार, फिर मोदी सरकार दिया गया है. वहीं बूथ टीम का सबसे बड़ा कार्य सर्वसमाज के आंकड़ों को खंगालने के साथ ऐसे वोटरों को सूचीबद्ध करना होगा, जो मतदान में पिछड़ जाते हैं. तैयारी बैठक में क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह, क्षेत्रीय संगठन मंत्री भवानी सिंह, जिला महामंत्री शिवराम सिंह आदि माैजूद रहे.

चप्पे-चप्पे पर सिक्योरिटी
कार्यक्रम स्थल की सुरक्षा का जायजा लेने के लिए ट्यूजडे को एडीजी अविनाश चंद्र, आईजी आलोक सिंह, डीएम विजय विश्वास पंत, एसएसपी अनंत देव, एडीएम सिटी विवेक श्रीवास्तव पहुंचे. सुरक्षा के लिए 2,000 से ज्यादा पीएसी जवानों को लगाया गया है. वहीं सुरक्षा एजेंसियों ने मैदान के चप्पे-चप्पे की सुरक्षा का जायजा लिया.

बूथ सम्मेलन: एक नजर

- राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अमौसी एयरपोर्ट पर 11 बजे उतरेंगे

- एयरपोर्ट पर सीएम योगी आदित्यनाथ उनका स्वागत करेंगे.

- अमित शाह और सीएम हेलिकॉप्टर से 12 बजे आयोजन स्थल पहुंचेंगे

- सम्मेलन में 17 जिलों से आ रहे हैं बूथ अध्यक्ष और कार्यकर्ता.

- 25,000 बूथ अध्यक्ष और सेक्टर संयोजकों को आमंत्रित किया गया

- 2,000 से ज्यादा पुलिस कर्मियों को किया गया तैनात

- सम्मेलन को देखते हुए ट्रैफिक डायवर्जन लागू किया गया

- डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, डा. दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्रनाथ पांडेय, प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल के आने की संभावना