कराची (पीटीआई)। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के सीईओ वसीम खान ने दावा किया है कि, एशिया कप इस साल के अंत में श्रीलंका या यूएई में हो सकता है। खान ने इन अटकलों को खारिज कर दिया कि वर्तमान में निलंबित इंडियन प्रीमियर लीग के लिए जगह बनाने के लिए इस टूर्नामेंट को खत्म किया जा सकता है। उन्होंने यहां एक मीडिया सम्मेलन में कहा, "एशिया कप आगे बढ़ेगा। पाकिस्तानी टीम 2 सितंबर को इंग्लैंड से लौटती है, इसलिए हम टूर्नामेंट को सितंबर या अक्टूबर में कर सकते हैं। कुछ चीजें हैं जो केवल नियत समय में स्पष्ट हो जाएंगी। हम एशिया कप होने की उम्मीद कर रहे हैं क्योंकि श्रीलंका में कोरोना वायरस के बहुत अधिक मामले नहीं हैं। यदि वे ऐसा नहीं कर सकते हैं, तो यूएई भी आयोजन को लेकर तैयार है।'

पाकिस्तान ने बताई अपनी योजना

खान ने कहा कि इस आयोजन के मूल मेजबान पाकिस्तान ने श्रीलंका को अगले क्षेत्रीय कार्यक्रम की मेजबानी करने के बदले में इसे आयोजित करने की सहमति दी थी। उन्होंने यह भी पुष्टि की कि पाकिस्तान बोर्ड टी -20 विश्व कप के लिए खिड़की पर क्रिकेट खेलने के विकल्पों पर काम कर रहा है अगर वह अक्टूबर-नवंबर में योजना के अनुसार आगे नहीं बढ़ता है। उन्होंने खुलासा किया, "हम घर पर जिम्बाब्वे की मेजबानी करने के बाद दिसंबर में न्यूजीलैंड जाने वाले हैं। दक्षिण अफ्रीका जनवरी-फरवरी में दो या तीन टेस्ट और कुछ टी 20 मैच खेलने के लिए तैयार है।" खान ने कहा कि बोर्ड पाकिस्तान सुपर लीग के शेष पांच मैचों को पूरा करने के लिए नवंबर में विंडो देख रहा है।

भारत के साथ सीरीज को लेकर बोली बात

भारत के साथ क्रिकेट संबंधों पर, पीसीबी अधिकारी बहुत स्पष्ट थे कि तत्काल भविष्य में भारत के साथ द्विपक्षीय श्रृंखला की कोई संभावना नहीं थी। उन्होंने कहा, 'अफसोस की बात है कि हमें भारत के खिलाफ खेलने के बारे में भूलने की जरूरत है। यह हमारे और यहां तक ​​कि बीसीसीआई के लिए भी दुखद है क्योंकि उन्हें अपनी सरकार से अनुमति लेनी होगी। दोनों पक्षों के लिए एक-दूसरे के खिलाफ खेलने के बारे में सोचना अभी यथार्थवादी नहीं है।" उन्होंने आगे कहा, "पीसीबी ने अपनी आकस्मिक योजना बनाई है और अगले दो से तीन वर्षों के लिए हमारे वित्तीय मामलों को देखा है। हम अपनी वाणिज्यिक धाराओं में विविधता लाने की भी कोशिश कर रहे हैं ताकि हम केवल आईसीसी शेयरों पर निर्भर न हों।"

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk