देहरादून, सचिव स्वास्थ्य नितेश झा ने बताया कि अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना के तहत सूबे में अब तक 19 हजार पात्रों के गोल्डन कार्ड बन चुके हैं. 25 दिसंबर को योजना की शुरुआत हुई. योजना के तहत चिन्हित विभिन्न अस्पतालों में अभी तक 79 लोग अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना की चिकित्सा सुविधा का लाभ ले चुके हैं.

1350 बीमारियों का इलाज

अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना में राज्य के सभी परिवारों को कवर किया है. इसमें कैशलेस इलाज का प्रबंध किया है. इंश्योरेंस में आने वाली दिक्कतों को देखते हुए योजना को ट्रस्ट मोड में संचालित किया जा रहा है. यह सुविधा राज्य के सरकारी चिकित्सालयों एवं सूचीबद्ध प्राइवेट अस्पतालों में दी जायेगी. आपात स्थिति में सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में उपचार के लिये सीधे भर्ती होने पर यह सुविधा मिलेगी. अटल आयुष्मान योजना के सूचारू रूप से संचालन के लिए सरकार द्वारा सभी सरकारी हॉस्पिटलों के अलावा प्राइवेट अस्पतालों को सूचीबद्ध करने का कार्य किया जा रहा है. योजना में कुल 1350 प्रकार के रोग अवस्थाओं से संबंधित पैकेज का चयन किया गया है.