एमएचआरडी के पोर्टल पर रिपोर्ट हुई शिकायत तो गंभीर हुआ इलाहाबाद यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन

डीएसडब्लू ने रात में रेड डालने का अधिकार सौंपा

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: एसएसएल हॉस्टल के फ्रेशर्स के साथ रैगिंग की शिकायत एमएचआरडी के पोर्टल पर अपडेट होने के बाद इलाहाबाद यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन एक्टिव हो उठा है. रातों रात एंटी रैगिंग स्क्वॉड को एक्टिव कर दिया गया है. शताब्दी ब्वॉयज हॉस्टल से भी इस तरह की घटना की चर्चा सामने आने के बाद हॉस्टल में रैंडम चेकिंग की पृष्ठभूमि तैयार हो गयी है. डीएस डब्ल्यू प्रो. हर्ष कुमार ने एंटी रैगिंग स्क्वॉड को देर रात किसी भी हॉस्टल में रेड डालने का अधिकार दे दिया है.

स्टूडेंट्स से पूछेंगे समस्याएं

डीएसडब्ल्यू प्रो. कुमार की ओर से ग‌र्ल्स और ब्वॉयज स्कवायड टीम को कहा गया है कि हॉस्टलर्स से उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी हासिल की जाए, उन्हें किसी भी प्रकार की दिक्कत हो तो कोई भी जानकारी देने के लिए संपर्क भी किया जाए.

स्कवायड की भूमिका में काउंसलर

विवि के हॉस्टलों में जिस वक्त स्टूडेंट्स को एडमिशन दिया जाता है उसी समय उनसे रैगिंग विरोधी शपथ पत्र भी भरवाया जाता है. जिसमें उनके गार्जियन का सिग्नेचर करवाया जाता है. जिसकी मानिटरिंग हॉस्टलों के अधीक्षकों द्वारा की जाती है. साथ ही एंटी रैगिंग स्कवायड टीम काउंसलर की भूमिका निभाता है. जिसके अन्तर्गत ग‌र्ल्स स्कवायड टीम ग‌र्ल्स हॉस्टल में संवाद स्थापित करती है और ब्वॉयज स्कवायड टीम एडमिशन के बाद ब्वॉयज हॉस्टलों में जाकर स्टूडेंट्स से संवाद करती है.

ब्वॉयज स्कवायड के मेंबर्स

-एडीएसडब्ल्यू डॉ. राजेश कुमार गर्ग, डॉ. पीएस पुंडीर, डॉ. हरबंश सिंह, डॉ. राकेश सिंह, डॉ. पीके सिंह, डॉ. राहुल पटेल, डॉ. सुजीत कुमार सिंह, डॉ. हौसला प्रसाद सिंह, व डॉ. संतोष कुमार सिंह

ग‌र्ल्स स्कवायड टीम

-एडीएसडब्ल्यू डॉ. नीतू मिश्रा व डॉ. अमृता, डॉ. सरोज यादव, डॉ. ज्योति मिश्रा, डॉ. दीप शिखा सोनकर, डॉ. नीलोफर हफीज, डॉ. नीतू मोदी व डॉ. अर्चना सिंह.

एसएसएल हॉस्टल जैसी घटना की पुनरावृत्ति ना हो इसके लिए एंटी रैगिंग स्कवायड को लगातार मॉनिटरिंग का निर्देश दिया गया है. स्क्वॉड हॉस्टलों में रात में अचानक चेकिंग करेगी. रैगिंग करने वालों को कोई लिबर्टी नहीं दी जाएगी.

-प्रो. हर्ष कुमार,

डीएसडब्ल्यू इविवि