- अकाउंट, फ्रेंड्स, फॉलोअर व कमेंट पर नजर रख रहा है बिहार इलेक्शन कमीशन

- प्रारुप 26 में कैंडिडेट्स को देनी होगी अपने सोशल नेटवर्किंग कनेक्शन की पूरी जानकारी

patna@inext.co.in

PATNA : इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया ने नेताओं के काले धन के साथ-साथ उनके सोशल नेटवर्किंग अकाउंट पर भी नजर रखने जा रहा है. जो भी पार्टी या नेता इसके जरिए अपनी व पार्टियों का प्रचार-प्रसार करते हैं, तो उसे भी आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा और उसके खिलाफ कार्रवाई होगी. इलेक्शन ऑफिसर आर लक्ष्मण ने बताया कि तमाम कैंडिडेट्स व पार्टी के सोशल मीडिया पा‌र्ट्स पर नजर रखी जाएगी, जिसके लिए स्टेट इलेक्शन कमीशन ने एक टीम गठित की है. टीम में कई ऑफिसर्स हैं, जो आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर नजर रखे हुए हैं. अगर कोई भी उल्लंघन करते पकड़ा जाता है, तो उस पर कार्रवाई की जाएगी.

कैंडिडेट्स को देनी होगी जानकारी

प्रारूप ख्म् में कैंडिडेट्स को अपने सोशल अकाउंट के बारे में जानकारी देनी है. इसमें उन्हें बताना होगा कि उनके कितने अकाउंट हैं. कितने फॉलोअर व फ्रेंड्स हैं. इन पर किस तरह की मैसेजिंग होती है. इसके बाद टीम की ओर से ऐसे अकाउंट पर नजर रखी जाएगी. इसमें देखा जाएगा कि किसी भी वजह से आचार संहिता का उल्लंघन तो नहीं किया जा रहा है.

एक के नाम पर चार-पांच अकाउंट

पाटलिपुत्रा से राजद की कैंडिडेट मीसा भारती का फेसबुक पर कई अकाउंट है. इसके अलावा उनके दोनों भाई तेज प्रताप और तेज नारायण भी फेसबुक यूज करते हैं. फेसबुक पर तेज नारायण ने अपनी फोटो भीे चेंज कर ली है, जबकि तेज प्रताप लगातार कुछ न कुछ मैसेजिंग करते रहते हैं. इसके अलावा विभिन्न पार्टियों के मेंबर के फेसबुक अकाउंट पर दूसरी पार्टियों के नेताओं के कमेंट पर लगातार प्रहार कर रही है.

फेसबुक पर छाई 'आप'की खांसी

आप के नेता अरविंद केजरीवाल की खांसी पर लिखे गए कमेंट को लेकर काफी कुछ चल रहा है. इसके शेयरिंग का परसेंटेज काफी बढ़ा है, जिसमें यह लिखा हुआ है कि खांसी वाले से कोई क्या पूछे. उधर, राजद के चाहने वालों ने जेडीयू और बीजेपी को आड़े हाथों लेते हुए लिखा है कि जब भैंसवा अब तक पलट नहीं पाया है, तो यह बीजेपी और जेडीयू छू भी नहीं पाएगा.

फेसबुक, ट्विटर, वाट्सअप पर चलने वाले मैसेजिंग पर यह नजर रखी जा रही है. अगर उसमें आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन पाया गया, तो उस पर फौरन कार्रवाई की जाएगी.

डॉ. एन सरवण कुमार

जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह डीएम पटना