- सीबीआई लखनऊ की एंटी करप्शन ब्रांच को मिल सकता है जांच का जिम्मा

- हाईकोर्ट में 10 दिसंबर को पेश करनी है सीबीआई को प्रोग्रेस रिपोर्ट

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :सूबे में 68,500 शिक्षकों की भर्ती में हुए फर्जीवाड़े की जांच सीबीआई से कराने का हाईकोर्ट का आदेश जारी हुए एक महीना बीत चुका है पर अभी तक सीबीआई ने यह मामला दर्ज नहीं किया है. सूत्रों की मानें तो सीबीआई सोमवार को इसका केस दर्ज कर जांच शुरू सकती है. राजधानी स्थित सीबीआई के जोनल कार्यालय ने चार दिन पहले नई दिल्ली स्थित मुख्यालय को इसकी मंजूरी का रिमाइंडर भेजा था. सीबीआई के अफसरों की मानें तो सोमवार को इसकी अनुमति मिलने की उम्मीद है जिसके बाद केस दर्ज कर लिया जाएगा.

विवाद से फंसे यूपी के मामले

दरअसल सीबीआई में उच्चाधिकारियों के बीच शुरू हुए विवाद का असर जांचों पर भी पड़ रहा है. बसपा सरकार में औने-पौने दामों पर सरकारी चीनी मिलें बेचने की जांच सीबीआई से कराने की राज्य सरकार की सिफारिश भी धूल खा रही है और सीबीआई ने इसमें अभी तक कोई रुचि नहीं दिखाई है. सूत्रों की मानें तो इसी वजह से एटीएस के एएसपी राजेश साहनी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले की जांच पर भी अधिकारी एक राय नहीं बना सके और यह भी ठंडे बस्ते में डाल दिया गया. ऐसे करीब दस मामले हैं जिनमें सीबीआई की जांच को हरी झंडी नहीं मिल सकी.

लखनऊ दफ्तर में भी उठापटक

सीबीआई मुख्यालय ही नहीं, राजधानी के सीबीआई दफ्तर में भी अफसरों की रार का गहरा असर पड़ा है. इस साल स्पेशल क्राइम ब्रांच में दर्ज किए गये सबसे पहले मामले को एंटी करप्शन ब्रांच में ट्रांसफर करने से विवाद गहरा गया और इसकी गूंज दिल्ली तक हुई. वहीं लगातार कई मामलों को सीबीआई टेकओवर करने से इंकार करती रही जिसकी वजह से उनकी जांच आज तक परवान नहीं चढ़ सकी. वहीं एंटी करप्शन ब्रांच के एक एसपी का बिना किसी ठोस वजह के अचानक सेवा विस्तार से करने से इंकार कर दिया गया जिसकी वजह से लखनऊ कार्यालय में तनाव बढ़ता चला गया.

शिक्षक भर्ती फैक्ट फाइल

09 जनवरी : सहायक अध्यापक भर्ती 2018 का विज्ञापन जारी

25 जनवरी : भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू

12 मार्च : लिखित परीक्षा की तारीख टाली गई

27 मई : लिखित परीक्षा प्रदेश भर में आयोजित

13 अगस्त : परीक्षा परीक्षा परिणाम जारी, 41556 सफल

01 सितंबर : सोनिका देवी की आंसर शीट बदलने का हाईकोर्ट में खुलासा

08 सितंबर : परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव निलंबित अन्य पर कार्रवाई, जांच टीम गठित

28 सितंबर : हाईकोर्ट ने जांच में लीपापोती करने पर नाराजगी जताई

05 अक्टूबर : जांच समिति की रिपोर्ट पर रजिस्ट्रार व डिप्टी रजिस्ट्रार निलंबित

01 नवंबर : हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ ने सीबीआई जांच का दिया आदेश