- विधानभवन, सचिवालय व लोकभवन की सुरक्षा के लिए उठाए जाएंगे कई कदम
- एटीएस से प्रशिक्षित होंगे लोकभवन सुरक्षाकर्मी, पार्किंग स्थलों की होगी एंटी सेबोटाज जांच
लखनऊ (ब्यूरो)।
सीएम योगी आदित्यनाथ के दफ्तर की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सीआईएसएफ उठाए गए सवालों पर कार्रवाई शुरू कर दी गई है। इसके लिये राजकीय निर्माण निगम को सीएम के लोकभवन स्थित दफ्तर के शीशोंं को बुलेटप्रूफ बनाने के निर्देश दिए गए हैैं।

कई और इंतजामों को हरी झंडी
विधान भवन, सचिवालय परिसर और लोकभवन की सुरक्षा के लिए सीआईएसएफ की रिपोर्ट पर अपर मुख्य सचिव गृह एवं गोपन अवनीश कुमार अवस्थी की अध्यक्षता में हुई बैठक में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए हैैं। इसके तहत सीएम कार्यालय के शीशों को बुलेटप्रूफ बनाने के साथ लोकभवन के पंचम तल पर एक एक्स-रे बैगेज स्कैनर भी लगाने को कहा गया है। इन इमारतों में घुसपैठ की आशंका खत्म करने के लिए चहारदीवारी पर लेजर आधारित या इसी तरह का कोई अन्य इंट्रूजन डिटेक्शन सिस्टम लगाया जाएगा। चहारदीवारी के पास के पेड़ों की कटाई-छंटाई के साथ नजदीक के बिजली खंभों को भी एक हफ्ते में हटाया जाएगा।

एटीएस देगी ट्रेनिंग

इसके अलावा परिसर के वॉच टावरों को भी 10 दिन में नेट से कवर करने के निर्देश दिए गए हैैं, ताकि कोई ग्रेनेड से नुकसान न पहुंचा सके। इन परिसरों के पार्किंग स्थल में एंटी सेबोटाज जांच होगी, जबकि लोकभवन के सुरक्षाकर्मियों को एटीएस से ट्रेनिंग दिलाई जाएगी। लोकभवन में सीसीटीवी कंट्रोल रूम बनाने और इनके जरिए पूरे परिसर पर नजर रखने की व्यवस्था बनाने को कहा गया है, जबकि लोकभवन में पब्लिक एड्रेस सिस्टम भी लगाने के निर्देश दिए गए हैैं।

गेट नंबर 7 से सीएम का आवागमन

नई सुरक्षा व्यवस्था के तहत सचिवालय के गेट नंबर सात से सीएम के प्रवेश व निकासी की संस्तुति की गई है। इस गेट के सामने से अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए गए हैं। मंत्री, विधायक व अधिकारी विधान भवन में गेट नंबर आठ व नौ और लोकभवन में गेट नंबर एक व तीन से आवागमन कर सकेंगे।

यह भी होंगे उपाय

विधान भवन परिसर में चौपहिया वाहन आरएफआईडी (रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटिफिकेशन) टैग से और दोपहिया वाहन स्मार्ट कार्ड से इंट्री पाएंगे। पैदल आने वाले लोकभवन के गेट नंबर छह व छह-ए से अस्थायी फोटो आइडेंटिटी कार्ड जारी कराके जांच के बाद प्रवेश पा सकेंगे। लोकभवन के गेट नंबर तीन, चार, आठ व नौ के प्रवेश द्वार पर रंबल स्ट्रिप बनाई जाएगी।
सीएम योगी ने दिया खास ताेहफा, रक्षाबंधन पर महिलाएं रोडवेज बसों में कर सकेंगी मुफ्त यात्रा
सीएफओ को प्रतिकूल प्रविष्टि

लखनऊ और सचिवालय के चीफ फायर ऑफिसर्स को यह पता ही नहीं है कि विधान भवन और लाल बहादुर शास्त्री भवन स्थित एनेक्सी को अग्निसुरक्षा के लिहाज से अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी किया गया है या नहीं। इस पर दोनों अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई है। साथ ही आग बुझाने के उपकरणों की जांच के निर्देश दिए गए हैैं। सीआईएसएफ ने 1।35 करोड़ रुपये के अग्निशमन उपकरणों की खरीद की जरूरत बताई है। साथ ही मॉक ड्रिल के निर्देश दिए गए हैं।

lucknow@inext.co.in

National News inextlive from India News Desk