ऑनलाइन ठगी से बचने के तरीके बताएगा एकेटीयू

4 से 6 दिन के होंगे कोर्स, कोई भी ले सकेगा दाखिला

Meerut. एकेटीयू यानि डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्व विद्यालय से अब ऑनलाइन ठगी से बचने के लिए शॉर्ट टर्म कोर्स कर सकेंगे. इसकी अवधि महज चार से छह दिन की होगी. यही नहीं ये सर्टिफिकेट कोर्स सेंटर फोर एडवांस स्टडीज के तहत संचालित होंगे. इस कोर्स के माध्यम से फर्जी मेल्स और ऑनलाइन ठगी से निपटने की जानकारी दी जाएगी. नए सत्र से कोर्स को शुरु करने की तैयारी है.

हो रही है धोखाधड़ी

गौरतलब है कि एकेटीयू के वीसी प्रो. विनय पाठक ने कॉलेजों व सेंटर्स को इस संबंध में मेल भी भेजी है, जिसके मुताबिक ऑनलाइन ठगी के मामले बढ़ रहे हैं. ऐसे में अगर लोग थोड़ी सी सावधानी बरतेंगे तो इससे बच सकेंगे. इस कोर्स के लिए एकेटीयू ने आईआईटी कानपुर से टाईअप किया है. टीचर्स की मदद से इससे संबंधित एक सॉफ्टवेयर बनाने का काम भी शुरु हो गया है. इसके माध्यम से स्टूडेंट्स को बताया जाएगा कि किस तरह से फर्जी मेल्स व मैसेज पर लगाम लगाई जा सकती है.

कोई भी ले सकेगा दाखिला

इस कोर्स में इंटर पास, ग्रेजुएट कोई किसी भी स्टूडेंट को दाखिला मिल सकेगा. सर छोटू राम इंजीनियरिंग कॉलेज के डायरेक्टर प्रो. जयमाला ने बताया कि विभाग के पास ऐसी मेल तो आई है, जिसको मैनें आइटी विभाग में फारवर्ड किया है. वो देखकर बताए कि क्या इस कोर्स से वास्तव में कुछ फायदा होगा, अगर ऐसा होता है तो ये बहुत ही अच्छा है हम भी इस कोर्स को आगे बढ़ाने में अधिक से अधिक सहयोग देंगे.

डिलीट करें लॉटरी वाले मैसेज

आईआईटी कानपुर व एकेटीयू की पहल से ही ऐसा संभव हो पाएगा. अक्सर लोग को ऐसे मेल्स और मैसेज आते है, जिनमें लिखा होता कि आप दस लाख रुपए जीत गए हैं, कई समझदार लोग भी इन मैसेज के फेर में फंस जाते है. आइआइटी कानपुर में भी एक शिक्षक भी इसके शिकार हो गए थे, इसके बाद ही इसके लिए कैसे सर्तकता बरती जाए ये कोर्स सिखाने पर विचार किया गया.