वाशिंगटन (एएनआई)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार शाम यूरोपियन यूनियन के राजदूत गॉर्डन सोंडलैंड को उनके पद से बर्खास्त कर दिया है। बता दें कि सोंडलैंड पिछले साल महाभियोग की सुनवाई में राष्ट्रपति के खिलाफ गवाही देने वाले दूसरे गवाह थे। सोंडलैंड ने कहा कि वह ट्रंप के इरादों के बारे में पहले से जानते थे। ट्रम्प द्वारा लेफ्टिनेंट कर्नल अलेक्जेंडर विंडमैन और उनके जुड़वा भाई को राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद में उनके पदों से हटाए जाने के कुछ ही घंटों बाद सोंडलैंड को भी बर्खास्त करने की घोषणा हुई। शुक्रवार को ट्रंप ने कहा कि सदन द्वारा उनके खिलाफ चलाए जाने वाले महाभियोग को खत्म किया जाना चाहिए क्योंकि यह पूरी तरह से एक राजनीतिक एजेंडा है।

ट्रंप ने यरुशलम विवाद को सुलझाने के लिए पेश किया मिडिल ईस्ट प्लान, इजराइल सहमत, फिलिस्तीन ने नकारा

ट्रंप को सभी आरोपों से किया गया मुक्त

इसके अलावा ट्रंप ने सदन की स्पीकर नैन्सी पलोसी और सीनेटर मिट रोमनी को भी निशाना बनाया, वह एकमात्र रिपब्लिकन थे जिन्होंने ट्रंप को सीनेट के मुकदमे में दोषी ठहराने के लिए वोट किया था। हालांकि, सीनेट ट्रायल बुधवार को खत्म हो गया, जिसमें ट्रंप को बरी करने का फैसला किया गया। ट्रंप के खिलाफ यह आरोप लगाया गया था कि उन्होंने अपनी सेना का गलत उपयोग किया और व्हाइट हाउस की बैठक में यूक्रेन पर जो बिडेन और उनके बेटे के खिलाफ जांच करने के लिए यूक्रेन पर दबाव डाला। ट्रंप को बुधवार को महाभियोग के मुकदमे में अमेरिकी सीनेट द्वारा सभी आरोपों से मुक्त कर दिया गया था। सबसे पहले, राष्ट्रपति को सत्ता के दुरुपयोग के आरोप से मुक्त किया गया, इस मामले में उनके पक्ष में 52 और विपक्ष में 48 वोट पड़े। फिर दोबारा उन्हें महाभियोग के दूसरे आर्टिक्ल से बरी कर दिया गया, इस मामले में उनके पक्ष में 53 और खिलाफ में 47 वोट पड़े।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk