लंदन (आईएएनएस)। फेसबुक, इंस्टाग्राम और यूट्यूब को अपने प्लेटफॉर्म पर हार्मफुल वीडियोज को फिल्टर ना कर पाने के चलते ब्रिटेन में भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है। कुछ मीडिया का कहना है कि सरकार ने जुर्माना वसूलने की तैयारी भी शुरु कर दी है। सरकारी योजनाओं के तहत ब्रिटेन की प्रसारण निगरानी संस्था 'ऑफकॉम' को इन सोशल नेटवर्किंग दिग्गजों की निगरानी करने का कानूनी हक दिया जायेगा। रविवार को जारी द टेलीग्राफ की एक रिपोर्ट के अनुसार, 'ऑफकॉम' फेसबुक, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर अपलोड किये गए वीडियोज की पहले जांच करेगा और फिर साइट पर अश्लील, हिंसक और चाइल्ड एब्यूज जैसे वीडियोज पाए जाने के बाद उनपर जुर्माना लगाएगा।

देना होगा इतना जुर्माना

अगर साइटें हानिकारक वीडियो से बच्चों को दूर रखने और उनके उम्र का पता लगाने में विफल रहती हैं तो 'ऑफकॉम' उनपर 250,000 पाउंड (2.15 करोड़ रुपये) या कंपनी की रेवेन्यू का पांच प्रतिशत तक की राशि का जुर्माना लगा सकता है। इसके अलावा, यदि कंपनियां ऑफकॉम के नियमों का पालन नहीं करती हैं, तो ऑफकॉम के पास ब्रिटेन में उन्हें 'निलंबित' या 'प्रतिबंधित' करने का भी अधिकार होगा। बता दें कि सोशल मीडिया फैल रही अश्लीलता और उस तरफ बच्चों के बढ़ते रुझान के कारण ब्रिटेन सरकार ने इस तरह का निर्णय लिया है।

ध्वनि यू ट्यूब की टाॅप 10 मोस्ट वाॅच्ड लिस्ट में, 'दिलबर', 'लेजा रे' और 'साइको सइयां' से मिली पाॅपुलैरिटी

ट्रोल का शिकार होकर कई बच्चों ने की आत्महत्या

पिछले कुछ सालों में लंदन में ऐसे कई मामले में सामने आये हैं, जिनमें सोशल मीडिया पर गंदे कंटेंट या ट्रोलिंग का शिकार होकर कुछ बच्चों ने आत्महत्या कर ली। इसके अलावा इस साल की शुरुआत में, न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च मस्जिद में हुए आतंकवादी हमले के वीडियो को लाइव स्ट्रीम करने के बाद फेसबुक को भारी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk