कोलकाता (पीटीआई)। टीम इंडिया के हाईएस्ट गोल स्कोरर और कप्तान सुनील छेत्री से भारतीय फैंस को काफी उम्मीदें रहती हैं। मगर इस खिलाड़ी का मानना है कि अब टीम में ऐसे कई खिलाड़ी हैं जो उनसे बेहतर खेल सकते हैं। मंगलवार को वर्ल्ड कप क्वाॅलीफाॅयर में बांग्लादेश के खिलाफ अहम मुकाबले से पहले छेत्री ने कहा, 'यह मेरे बारे में कभी नहीं था, यह मेरे बारे में कभी नहीं होगा। यह हमेशा भारत बनाम बांग्लादेश के बारे में है। मैं सिर्फ उन 23 खिलाड़ियों में से एक हूं, जो सिर्फ इसलिए भाग्यशाली हैं क्योंकि मुझे बाकी प्लेयर्स से ज्यादा एक्सपीरियंस है।'

खिलाड़ी नहीं टीम के बारे में होती बात
35 साल के भारतीय कप्तान का कहना है, भारत की सफलत का पूरा श्रेय भारतीय कोच इगोर स्टीमेक को जाता है जिन्होंने एक बेहतर स्काॅड का चयन किया। टीम में सिर्फ वही खिलाड़ी हैं जो सबसे बेहतर हैं। छेत्री कहते हैं, 'कतर के खिलाफ टीम इंडिया ने ड्रा खेला था, याद रखिए उस मैच में मैं टीम में नहीं था।' सुनील छेत्री आगे कहते हैं, 'मौजूदा वक्त में भारतीय टीम में यह सबसे बड़ा बदलाव है। हमारे कोच उन खिलाड़ियों के बारे में नहीं सोचते जो मैच खेलने वाले हैं, बल्कि इसके बारे में सोचते हैं कौन सी टीम खेलने वाली है।'


कोच की सोच को सलाम
सुनील छेत्री ने कोच के बारे में आगे बताया कि वह इस बारे में कभी नहीं सोचते कि आप क्या सोचते हैं। वह ट्रेनिंग के दौरान खिलाड़ियों को बारीकी से देखते हैं और फिर निर्णायक डिसीजन लेते हैं। यही वजह है कि हमने कतर के खिलाफ अच्छा प्रदर्शन किया। यही टीम की खूबसूरती है जो इस वक्त हमारे पास है। बांग्लादेश के खिलाफ मैच को लेकर छेत्री कहते हैं, हमारा लक्ष्य जीत हासिल कर तीन प्वाॅइंट हासिल करना है। अब गोल कोई भी करे, यह ज्यादा मायने नहीं रखता।

भारत का अभी तक नहीं खुला खाता
2022 फीफा वर्ल्डकप क्वाॅलीफाॅयर मैच में भारत का अभी तक खाता नहीं खुला है। भारत ने दो मैच खेले हैं जिसमें एक में हार और एक ड्रा रहा था। कतर के खिलाफ पहले मैच में टीम इंडिया ने ड्रा खेला था वहीं ओमान के खिलाफ भारत को 1-2 से मैच गंवाना पड़ा।

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

inextlive from News Desk