- केमिस्ट्री की कॉपी चेकिंग को लेकर हुई आपसी बहस

- परीक्षक कॉपियों की चेकिंग कम और बहस के मूड में ज्यादा नजर आए

MEERUT : यूपी बोर्ड मूल्यांकन में शुक्रवार का दिन जीआईसी केंद्र पर टीचर्स की भिड़ंत के ही नाम रहा. दोपहर कॉपियों के मूल्यांकन को लेकर टीचर्स की बहस हुई तो वहीं नोट निकलने पर भी टीचर्स में हुई लड़ाई. शुक्रवार को परीक्षक कॉपियों की चेकिंग कम और आपसी बहस के मूड में ज्यादा नजर आए. हालांकि इस बारे में केंद्र के प्रिंसीपल ने सख्त कार्रवाई करने की बात कही है, लेकिन ऐसे में पूरा दिन बस टीचर्स की बहस में ही बीता.

केमिस्ट्री की कॉपियों ने कराया झगड़ा

शुक्रवार को जीआईसी सेंटर पर कॉपियों का मूल्यांकन करने के लिए लगभग चार हजार कॉपियां बची हुई थीं. मूल्यांकन डिप्टी हेड ने सभी परीक्षकों को पचास-पचास कॉपियां बांट दी, लेकिन कुछ परीक्षक पचास से ज्यादा कापियों का मूल्यांकन करने की जिद कर रहे. ऐसे में हेड के मना करने पर परीक्षक ने बहस करनी शुरु कर दी. इस दौरान परीक्षकों और हेड में कॉपियां बहस का मुद्दा बन गई. घंटे भर के बाद जब मामला शांत नहीं हुआ तो फिर सेंटर पर मौजूद अन्य टीचर्स व कुछ अधिकारियों ने मामले को शांत करवाया.

टीचर्स में हुई तू-तू मैं-मैं

जहां जीआईसी सेंटर पर केमिस्ट्री की कॉपी को लेकर आपसी बहस हुई. वहीं इंटर की कुछ केमिस्ट्री कॉपियों में से पांच सौ के नोट निकलने पर परीक्षकों में तू-तू मैं-मैं होने लगी. ऐसे में कॉपियों से निकले पैसों को आपस में बांटने की बात को लेकर दो परीक्षकों में जमकर बहस हुई. जहां सेंटर पर मौजूदा कुछ परीक्षकों के लिए यह झगड़ा हंसी की वजह बनी, वहीं कुछ परीक्षकों के मूल्यांकन में बाधा कारण भी बनी.

इस संबंध में अभी तक पूरी बात पता नहीं है, मामले की पूरी जांच करके संबंधित परीक्षकों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

देवेंद्र स्वरुप, प्रिंसीपल जीआईसी

यह मामला थोड़ा बहुत संज्ञान में आया था, इस संबंध में पूरी जानकारी व जांच पड़ताल के बाद ही कार्रवाई की जाएगी.

शिव कुमार ओझा, डीआईओएस

Posted By: Inextlive