- कई एरिया में डस्टबिन फुल होने से रोड पर डाल दिया कूड़ा

-लोगों का कहना नगर निगम ने कई एरिया में डस्टबिन भी कम रखवाए

बरेली:

स्मार्ट सिटी में चयनित बरेली को क्लीन एंड ग्रीन बनाने के लिए प्रशासन की तरफ से की जा रही कोशिश नाकाम साबित हो रही है. कॉलोनी और मोहल्लों में कूड़ा रोड पर न बिखरे इसके लिए डस्टबिन लगवाए गए थे, लेकिन बरेलियंस हैं कि स्मार्ट सिटीजन बनना ही नहीं चाहते हैं. स्मार्ट सिटी में रहना तो चाहते हैं लेकिन अपनी आदत सुधारने को तैयार नहीं हैं. यही कारण है कि कई मोहल्लों और कॉलोनी में जगह डस्टबिन लगे होने के बाद भी कूड़ा बिखरा हुआ रहता है.

लगना चाहिए जुर्माना

डस्टबिन रखा है फिर भी कूड़ा डस्टबिन में नहीं बल्कि बाहर ही फेंककर चले जाते हैं. कभी कोई समझाता है तो सुनने को तैयार नहीं होते हैं. ऐसा लगता है कि बरेलियंस हैं कि सुधरने को तैयार ही नहीं है. इससे रोड से निकलने वालों को भी प्रॉब्लम होती है. हालांकि नगर निगम जल्द ही रोड या पब्लिक प्लेस पर कूड़ा फैलाने वालों पर कार्रवाई का प्रावधान करने वाला है ताकि स्मार्ट सिटी को क्लीन एंड ग्रीन बनाया जा सके.

नहीं उठता डेली कूड़ा

शहर में नगर निगम डेली कूड़ा उठवाने का दावा तो करता है लेकिन बरेलियंस का कहना है कि डेली कूड़ा उठाने के लिए टीम ही नहीं आती है. जिस कारण डस्टबिन फुल हो जाते हैं और लोग कूड़ा डस्टबिन में डाल भी दें तो वह रोड पर बिखरने लगता है. कई बार छुट्टा जानवर भी डस्टबिन में पड़ा कूड़ा निकालकर रोड पर बिखेर देते हैं. इसीलिए रोड पर कूड़ा फैला दिखाई देता है.

डस्टबिन भी कम

बरेलियंस के लिए गली मोहल्लों में डस्टबिन तो नगर निगम ने लगवाए, लेकिन वह डस्टबिन मोहल्ले या कॉलोनी में मानक के हिसाब से छोटे हैं जिससे जल्दी फुल हो जाते हैं. जबकि कई जगह डस्टबिन टूट गए हैं जिस कारण भी रोड पर कूड़ा फेंका जा रहा है.

=====================

-शहर में कई जगह तो डस्टबिन चोरी हो गए हैं, नगर निगम को डस्टबिन नहीं होने की शिकायत मिलती है तो वहां पर लगवाया जाता है. लेकिन इसके लिए सुधरना तो खुद ही पड़ेगा, इधर-उधर कूड़ा न फैलाएं.

ईश शक्ति सिंह, अपर नगर आयुक्त

--------------

-शहर स्मार्ट तभी हो सकता है जब उसके नागरिक स्मार्ट हों. इसके लिए सभी को खुद में बदलाव लाने की जरूरत है. जब तक इधर-उधर कूड़ा फेंकने की आदत नहीं छोडें़गे शहर स्मार्ट नहीं बन सकता है.

प्रवीन सिंह राना, बिजनेस मैन

----------------

-जो लोग कॉलोनी, मोहल्लों और पब्लिक प्लेसेज में कूड़ा फैलाते हैं उनके खिलाफ नगर निगम को कार्रवाई करनी चाहिए. ताकि दूसरे भी अवेयर हों. क्योंकि ऐसे कोई सुधरने वाला नहीं है. इसके लिए एक्शन होना जरूरी है.

अवनीश भटनागर,

-------------

- शहर में कुछ एरिया ऐसे हैं जहां पर लोग अक्सर रोड या चौराहा पर कूड़ा डाल देते हैं. लेकिन नगर निगम उनके खिलाफ एक्शन नहीं लेता है. ऐसे लोगों पर एक्शन हो तभी बरेलियंस सुधरने का नाम लेंगे.

सुरेश चन्द्र वर्मा

------------------

-आज भी कुछ लोग डस्टबिन लगा होने के बाद भी डस्टबिन के बाहर कूड़ा फेंकते हैं. इसके लिए लोगों को खुद भी बदलना होगा. जरूरी है कि पहले हम खुद सुधरे उसके बाद दूसरों को सुधारने की कोशिश करें.

प्रेम कुमार