-मगहर के पास मिला एटीएम कार्ड और पासपोर्ट

-खोराबार थाना में दर्ज कराई युवक की गुमशुदगी

GORAKHPUR:

खोराबार के भैसहा, बलुआ निवासी रामलखन चौधरी का बेटा पंकज एक माह से लापता है. राजस्थान में कार कंपनी में ज्वाइनिंग के लिए निकले युवक का एटीएम कार्ड और पासपोर्ट मगहर में लावारिस हाल मिला. परेशान हाल परिजनों ने खोराबार थाना में युवक की गुमशुदगी दर्ज कराई है. परिजनों का कहना है कि चार मार्च को पंकज की ज्वाइनिंग थी. इसलिए वह घर से दो मार्च को निकल गया था. तीन मार्च को लखनऊ पहुंचकर उसने परिजनों को फोन किया था.

कंपनी में ज्वाइनिंग के लिए निकला था पंकज

भैंसहा, बलुआ निवासी रामलखन चौधरी के चार बेटों में सबसे बड़े पंकज ने आईटीआई के बाद कार कंपनी में नौकरी करता था. राजस्थान के कोटा स्थित कार की दूसरी कंपनी में उसे अच्छे वेतन पर नौकरी मिल गई. चार मार्च को उसे च्वाइन करने लिए बुलाया गया. दो मार्च को वह ट्रेन से गोरखपुर से रवाना हुआ. लखनऊ पहुंचकर उसने अपने परिजनों से बात की. बताया कि यहीं से अन्य दोस्तों संग ट्रेन बदलकर राजस्थान चला जाएगा. उसके बाद पंकज का मोबाइल फोन भी ऑफ हो गया. उससे संपर्क न होने पर परिजन परेशान हो गए. लोगों ने उसके परिचितों से जानकारी ली. लेकिन कुछ नहीं हासिल हुआ. वह ज्वाइनिंग के लिए राजस्थान भी नहीं पहुंचा.

मगहर के पास मिले कपड़े, मार्कशीट

परिजनों ने युवक की तलाश शुरू कर दी. इस बीच संतकबीर नगर जिले के रसूलाबाद निवासी प्रदीप यादव ने रामलखन के पास फोन किया. बताया कि एक बैग लावारिस हाल मिला है जिसमें कपड़े और मार्कशीट पड़ी है. बैग की सूचना मिलने पर परिजन रसूलाबाद पहुंच गए. वहां कोई यह नहीं बता पाया कि उनके पास बैग कहां से आया. लावारिस हाल बैग मिलने पर जब तलाशी ली गई तो मार्कशीट मिलने पर परिजनों को जानकारी दी गई. तभी से पंकज के परिजन अनहोनी की आशंका में सहमे हैं. परिजनों की सूचना पर खोराबार पुलिस छानबीन में जुटी है.

Posted By: Syed Saim Rauf

inext-banner
inext-banner