दो जुलाई को जारी हो सकती है ओपन मेरिट, रिक्त सीटों के लिए दोबारा होंगे पंजीकरण

Meerut : सीसीएस यूनिवर्सिटी की ओर से प्रथम चरण की एडमिशन प्रक्रिया पूरी होने के बाद नौ जुलाई से स्नातक (यूजी) की कक्षाएं संचालित कराई जाएंगी. प्रथम चरण में जारी की जा चुकी दो मेरिट के अलावा तीसरी (ओपन मेरिट) में जो भी दाखिले होंगे, उन छात्र-छात्राओं की कक्षाएं शुरू कर जाएंगी. यह निर्णय शुक्रवार को यूनिवर्सिटी से संबद्ध कालेजों के प्राचार्यो के साथ हुई प्रवेश से संबंधित बैठक में लिया गया. यूनिवर्सिटी की ओर से पिछले कुछ सालों से सत्र को समय से शुरू करने की कवायद की जा रही थी जो इस साल काफी हद तक सफल होती दिख रही है. नौ जुलाई से कॉलेजों में पढ़ाई शुरू होने के साथ ही रिक्त सीटों पर दाखिले की प्रक्रिया भी जारी रहेगी. दो जुलाई को तीसरी यानी ओपन मेरिट जारी की जा सकती है.

द्वितीय मेरिट में आज तक प्रवेश

यूनिवर्सिटी की ओर से चल रही प्रवेश प्रक्रिया में द्वितीय मेरिट में दाखिले की अंतिम तिथि 30 जून है. द्वितीय मेरिट के छात्रों को प्रवेश लेने के लिए शनिवार दिन भर का समय है. इसी तरह यूजी प्रोफेशनल और पीजी ट्रेडिशनल में रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि भी 30 जून ही है. वहीं एलएलबी और पीजी प्रोफेशनल के रजिस्ट्रेशन जारी रहेंगे. एलएलबी में मेरठ कॉलेज, एनएएस कालेज, एमएमएच कॉलेज और एनआरईसी खुर्जा के रजिस्ट्रेशन चल रहे हैं. संबद्धताएं अभी प्रदान की जा रही हैं. इसलिए विधि के छात्रों को अपने पंजीकरण फार्म में संशोधन का अवसर प्रदान किया जाएगा.

दूसरे चरण में रिक्त सीटों के सापेक्ष मेरिट

दूसरे चरण की प्रवेश प्रक्रिया में उन कॉलेजों को प्रेफरेंस मिलेगी जो प्रथम चरण में दाखिले नहीं करा सके हैं. किन्हीं कारण से जिनके नाम विवि के पोर्टल पर अपलोड नहीं हुए या फिर अपलोड होने के बाद भी प्रवेश नहीं हो सके हैं. तीन सा चार जुलाई को विवि के ईसी की बैठक होनी है. इसमें रिक्त सीटों के आधार पर दूसरे चरण की प्रक्रिया शुरू करने पर विचार किया जाएगा. इसके साथ ही नए संबद्धता वाले कॉलेजों को दाखिले का अवसर मिलेगा.

सूची दें अल्पसंख्यक कॉलेज

अल्पसंख्यक कॉलेजों को निर्देश दिए गए हैं कि वे अंतिम मेरिट आने से पहले अपने कोटे से प्रवेशित 50 फीसद छात्रों की सूची विवि को अवश्य उपलब्ध करा दें. बैठक में कई कॉलेजों के प्राचार्यो ने अपने विचार रखे. वरिष्ठ प्राचार्य डा. नरेश मलिक ने इस साल ऑनलाइन प्रवेश प्रक्रिया को संतोषजनक बताया. बैठक की अध्यक्ष कुलपति प्रो. एनके तनेजा ने की. इस अवसर पर प्रो. वाई विमला, प्रति कुलपति एचएस सिंह, प्रो. मृदुल गुप्ता, वीपी कौशल आदि उपस्थित रहे.