नई दिल्ली (पीटीआई)। यह चार्ज तब लगेगा जब जियो कस्टमर्स एयरटेल या वोडाफोन आइडिया जैसी कंपनियों के मोबाइल फोन नेटवर्क पर कॉल करेंगे। जियो की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि इसकी भरपाई अपने यूजर्स को वॉयस कॉल की राशि के बराबर डेटा देकर करेगी।

किसलिए लिया फैसला

रिलायंस जियो की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह कदम उस शुल्क की वसूली के लिए उठाया है जो कि पहले से निर्धारित 31 दिसंबर, 2019 की समय सीमा से आगे भी जारी रह सकता है। कंपनी ने ट्राई द्वारा तथाकथित इंटरकनेक्ट यूजर चार्ज (IUC) से जुड़े सनसेट क्लॉज पर पुनर्विचार के चलते पैदा हुई अनिश्चितता को इसके लिए दोषी ठहराया है। Jio ने बयान में कहा कि यह चार्ज तब तक वसूला जाएगा जब तक नियमों के तहत कॉल पूरा करने के लिए प्रतिद्वंद्वी नेटवर्क को भुगतान की आवश्यकता होगी।

जियो के प्रीपेड व पोस्ट पेड ग्राहकों पर यह होगा असर  

रिलायंस जियो की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह बुधवार से लागू होगा, जियो कस्टमर्स की अन्य मोबाइल ऑपरेटर्स को की जाने वाली कॉल पर वर्तमान आईयूसी रेट 6 पैसे प्रति मिनट के हिसाब से चार्ज वसूला जाएगा। ग्राहकों को आईयूसी टॉप अप वाउचर्स लेने होंगे। इन वाउचर्स की शुरुआती कीमत 10 रुपए है जिसमें से प्रत्येक में 124 आईयूसी मिनट होंगे, साथ ही एक जीबी अतिरिक्त डेटा भी मिलेगा। पोस्टपेड कस्टमर्स को नेटवर्क के बाहर जानी वाली कॉल पर 6 पैसे प्रति मिनट के हिसाब से बिल किया जाएगा साथ ही उन्हें उसी अनुपात में फ्री डेटा दिया जाएगा।      

जियो टू जियो नेटवर्क पर कॉल करने पर नहीं लगेगा शुल्क    

Jio, जो अपने 4 जी टेलीकॉम नेटवर्क पर यूजर्स को केवल डेटा उपयोग के लिए चार्ज करती है, जबकि देश में कहीं भी वॉयस कॉल फ्री है, ने कहा कि नया शुल्क उसके उपयोगकर्ताओं द्वारा अन्य Jio फोन और लैंडलाइन फोन पर की जाने वाली कॉल पर लागू नहीं होगा। साथ ही व्हाट्सएप, फेसटाइम और ऐसे अन्य प्लेटफॉर्म का उपयोग करके किए गए कॉल पर भी यह शुल्क देय नहीं होगा। सभी नेटवर्कों से इनकमिंग कॉल मुफ्त रहेगी।

Jio GigaFiber : जानें जियो फाइबर ब्राॅडबैंड के बारे में, कितने में क्या मिलेगा और बुकिंग कैसे कराएं

आईयूसी को लेकर जियो का तर्क    

2017 में दूरसंचार नियामक ट्राई ने आईयूसी चार्ज 14 पैसे से घटकर 6 पैसे कर दिया था, साथ ही विभिन्न कारकों पर विचार के बाद 31 दिसंबर, 2019 से इसे समाप्त करने का प्रस्ताव रखा था। लेकिन अब उसने इसकी समीक्षा के लिए एक परामर्श पत्र जारी किया गया है कि क्या समय सीमा को आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। Jio नेटवर्क पर वॉयस कॉल मुफ्त होने के कारण, कंपनी को भारती एयरटेल और वोडाफोन आइडिया जैसे प्रतिद्वंद्वियों को किए गए 13,500 करोड़ रुपये का भुगतान वहन करना पड़ा , Jio ने कहा, ट्राई के कदम से हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए, कंपनी ने यह निर्णय लिया है कि प्रतिद्वंद्वी नेटवर्क पर किए गए प्रत्येक कॉल के लिए ग्राहकों से प्रति मिनट 6 पैसे का शुल्क ले। यह पहली बार होगा जब जियो यूजर्स वॉयस कॉल के लिए भुगतान करेंगे।

Jio Fiber के साथ 4K TV चाहिए तो यह है सबसे सस्ता प्लान, जानें कितना सस्ता है जियो

Posted By: Vandana Sharma

Business News inextlive from Business News Desk