बाजार में मौजूद कई बेबी प्रोडक्ट्स में से अपने बेबी के लिए सही प्रोडक्ट चुनना बड़ी जिम्मेदारी है। जरूरी है कि उसकी नाजुक स्किन के लिए ऐसे प्रोडक्ट्स चुने जाएं जो पूरी तरह सुरक्षित हों। बेबी की स्किन बड़ों की स्किन के मुकाबले 3 गुना ज्यादा पतली होती है जिसके लिए सिर्फ सौम्य प्रोडक्ट्स ही इस्तेमाल करने चाहिए। अगर आप भी अपने बेबी के लिए स्किन केयर प्रोडक्ट लेने जा रहे हैं, तो पहले जान लें कि आखिर इनका चुनाव किया कैसे जाए।

पदार्थ का रखें ख्याल
अपने बेबी के लिए कोई भी प्रोडक्ट चुनने से पहले उसके अंदर इस्तेमाल किये गये पदार्थों के बारे में एक बार पढ़ लें। इसमें सिर्फ वही पदार्थ होने चाहिए, जो उनकी स्किन के लिये जरूरी हों और 100 प्रतिशत जेंटल केयर दे। आज की माएं बेबी प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल होने वाले पदार्थों को लेकर बहुत सजग हैं और उनकी इसी चिंता को ध्यान में रखते हुए जॉनसंस अपने किसी भी प्रोडक्ट में पैराबेन्स, सल्फेट्स और कोई भी अनावश्यक पदार्थ का इस्तेमाल नहीं करते हैं।

न हो कोई एलर्जी
डॉक्टर्स के मुताबिक बेबी प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल हुए पदार्थों का सभी कड़े परीक्षणों को पार करना जरूरी है, ताकि उनके इस्तेमाल से बेबी की स्किन पर किसी तरह की एलर्जी न हो। अगर किसी प्रोडक्ट के इस्तेमाल करने के तुरंत बाद बेबी की स्किन पर दाने, रैशेज वैगरह नजर आते हैं, तो इनका इस्तेमाल तुरंत बंद कर दें और डॉक्टर की सलाह लें। जॉनसंस का हर एक प्रोडक्ट कड़े 5 लेवल सेफ्टी प्रोसेस से गुजरता है और बेबी की स्किन एलर्जी फ्री रखता है।

प्रोडक्ट हों क्लिीनिकली प्रमाणित सौम्य
बेबी की स्किन बड़ों की स्किन से अलग होती है और उनका पीएच लेवल भी अलग होता है। बेबी के शरीर के अलग-अलग हिस्सों पर स्किन का पीएच लेवल भी अलग होता है, इसीलिए बेबी पर उन्हीं प्रोडक्ट को इस्तेमाल करना चाहिए जो खासतौर पर क्लिनिकली प्रमाणित हो। ज्यादातर बेबी प्रोडक्ट्स सिर्फ क्लीनिकली टेस्टेड होते हैं। यानि ये टेस्ट तो किए जाते हैं पर जरूरी नहीं कि इन्होंने उन टेस्ट को पास भी किया हो। वहीं क्लीनिकली प्रमाणित प्रोडक्ट्स कई कड़े परीक्षणों को 100% सफलता से पार करने के बाद ही लोगों तक पहुंचते हैं। जॉनसंस के सारे प्रोडक्ट्स क्लीनिकली प्रमाणित सौम्य हैं, साथ ही बेबी के लिए सुरक्षित भी।

स्टैंडर्ड के मुताबिक प्रोडक्ट
क्योंकि बेबी की स्किन बहुत कोमल और नाजुक होती हैं, इसलिए जो भी प्रोडक्ट्स उनके लिए चुनें जाये, उनका राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय रेग्युलेटरी स्टैंडर्ड पर खरा उतरना जरूरी है। इसलिए उनके लिए प्रोडक्ट्स खरीदने से पहले ये जांच करें कि वह कितने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय रेग्युलेटरी स्टैंडर्ड पर खरे उतरे हैं और कितने परीक्षणों से गुजरते हैं।

फ्रेगरेंस जो बेबी को रखे शांत
जन्म के पहले ही दिन से बच्चे अपनी सूंघने की शक्ति को सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। जानी-पहचानी और भीनी सी खुशबू उन्हें खुश रखने और सुकून पहुंचाने में मदद करती है। सौम्य व हल्की खुशबू बेबीज के मानसिक विकास के लिए भी जरूरी मानी जाती है। लेकिन याद रहे कि खुशबू इतनी तेज भी नहीं होनी चाहिए कि बेबीज को इससे परेशानी होने लगे। बेबी प्रोडक्ट की खुशबू प्रमाणित हो और ऐसी ना हो जिससे उनको किसी दिक्कत का सामना करना पड़े।

अपने बेबी की संपूर्ण देखभाल के लिये जॉनसन्स से पूछें सवाल care@jnjindia.com और टोल फ्री नंबर 1800228111 पर कॉल कर सकते हैं।

Note - This is Brand Desk content

Posted By: Brand Desk

inextlive from News Desk