- महिला का गला रेत कर फेंकने वाला पति गिरफ्तार

- घटना में प्रयोग की गई मारुति वैन बरामद, महिला से की थी दूसरी शादी

lucknow@inext.co.in

LUCKNOW :

पुलिस मुख्यालय के पास बुधवार देर रात शहीद पथ पर सीमा (38) का गला रेत कर फेंके जाने के मामले में पुलिस ने उसके कथित पति गोमतीनगर निवासी नदीम खान को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. पुलिस का दावा है कि आरोपी ने तीन शादी की थी, जिसे लेकर अक्सर विवाद होता था. सीमा को तलाक न दे पाने के डर से पति ने उसे रास्ते से हटाने की साजिश रची थी. मेला घुमने के बहाने घर से बाहर ले गया और शहीद पथ पर वारदात को अंजाम दिया. पुलिस ने घटना में प्रयोग की गई मारुति वैन बरामद कर ली है.

तीन साल से सीमा को पत्नी की तरह रखे हुए था

एसएसपी कलानिधि नैथानी के मुताबिक सीमा मूल रूप से फैजाबाद की रहने वाली है. उसकी बहन नेहा की शादी गोमतीनगर के विशालखंड स्थित शंकर चौराहा निवासी नदीम खान से हुई थी. पुलिस के मुताबिक सीमा की भी शादी हो चुकी थी. विवाद के कारण उसने पहले पति को छोड़ दिया था. इसके बाद नदीम ने सीमा को अपने साथ करीब तीन साल पहले पत्नी की तरह रख लिया था. दोनों लोग मकदूमपुर के पास किराए के मकान में रह रहे थे. वहीं नेहा को उसने अपने विशालखंड स्थित घर पर रखा हुआ था.

सारे रुपये भी ले लेती थी

इंस्पेक्टर गोसाईंगंज डीके उपाध्याय के मुताबिक नदीम ने पूछताछ में बताया कि सीमा दबाव बना रही थी कि वह उसी के साथ रहे. नेहा उसकी बहन है. इसके बावजूद उससे मिलने नहीं देना चाहती थी. नदीम से सारे रुपये भी ले लेती थी. वह नहीं चाहती थी कि किसी से संपर्क रखे. नदीम ने पुलिस को बताया कि नेहा को कैंसर है. उसके इलाज के लिए भी रुपये नहीं दे पाता था. सीमा से रोज होने वाले विवाद से परेशान हो गया था. इसलिए उसे रास्ते से हटाने का मन बना लिया.

मेला दिखाने के बहाने लेकर निकला

आरोपित ने पुलिस को बताया कि सीमा की हत्या करने का प्लान उसने तैयार कर लिया था. योजना के तहत आरोपित ने मेला घुमाने का झांसा दिया. वह सीमा को साथ में लेकर मारुति वैन से बुधवार रात निकला. काफी देर तक घुमते रहे. इसके बाद वह सीमा को शहीद पथ पर ले गया. पुलिस मुख्यालय के पास उसने सुनसान देखा. वहीं पर सीमा का वैन के अंदर चाकू से गला रेत दिया. उसे मृत समझ का शहीद पथ पर ही फेंक कर भाग निकला था. इसी बीच कमता में रहने वाले युवक युवती वहां से निकल रहे थे. दोनों ने सीमा को कार से लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत गंभीर देख ट्रॉमा सेंटर रेफर कर दिया गया, जहां उसका इलाज चल रहा है.

'एन' अक्षर और मोबाइल नंबर से मिला सुराग

बेहोश होने से पहले सीमा ने एक कागज पर मोबाइल नंबर, अंग्रेजी में एन और अपना नाम लिखा था. हालांकि उसका दिया मोबाइल नंबर सही नहीं था. ऐसे में एसएसपी ने खुद मोर्चा संभाला. उन्होंने महिला के दिए मोबाइल नंबर के कॉम्बीनेशन बनाना शुरू किया. कई कॉम्बीनेशन को ट्रू कॉलर और वाट्सअप पर चेक किया. एक मोबाइल नंबर के कॉम्बीनेशन पर ट्रू कॉलर और वाट्सअप पर नदीम खान दिखा रहा था. सीमा ने भी एन लिखा था. बस यहीं पर एसएसपी ने फोकस किया. वाट्सअप पर दिखे नाम नदीम और फोटो को फेसबुक पर सर्च किया.

फेसबुक से मिले अहम साक्ष्य

एसएसपी ने बताया कि आरोपित नदीम खान का फेसबुक प्रोफाइल चेक किया गया. उसकी फ्रेंड लिस्ट चेक की गई. फ्रेंड लिस्ट में सीमा खान नाम की महिला दिखी. उसका चेहरा सीमा सोनी से मेल खा रहा था. फेसबुक पर सीमा खान ने हाथों में जो अंगुठियां पहनी हुई थी. वह भी सीमा सोनी से मेल खा रही थी, जिसके बाद सीमा की शिनाख्त पुख्ता हो गई. पुलिस को इस बात की पुष्टि हो गई कि वारदात नदीम खान ने ही की है.

एफबी पर वैन नंबर से आरोपी तक पहुंची पुलिस

पुलिस को फेसबुक पर नदीम की एक फोटो दिखी. उसमे वह स्कूल बस व वैन के पास खड़ा दिखा. पुलिस को फेसबुक से बस का नंबर भी मिल गया. बस नंबर के आधार पर पुलिस नाका निवासी उसके मालिक तक पहुंची. बस मालिक ने पुलिस को बताया कि उसकी गाड़ी नदीम चलाता है. इसके बाद पुलिस ने घायल सीमा का फोटो बस मालिक को दिखाया. बस मालिक ने उसे पहचान लिया. उसने बताया कि सीमा चालक नदीम की दूसरी पत्नी है. इसके बाद पुलिस ने आरोपी का मोबाइल नंबर सर्विलांस पर ले लिया. पुलिस को लोकेशन देर रात चिनहट के इंदिरा नहर के पास मिली. वह अपने पैतृक घर बलरामपुर भाग रहा था.