- छापेमारी में पकड़ी गई एक ट्रक अमूल आइसक्रीम पिघलने से अफसर परेशान

- डीजल खत्म होने के डर से चालक ने बंद कर दिए ट्रक के इंजन

BAREILLY:

कॉमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट की एसआईबी टीम फ्राइडे को मुसीबतों में घिर गई. कागजी खामियों के चलते पकड़ी गई 4.50 लाख रुपए की आइसक्रीम उस वक्त मुसीबत बन गई जब वह पिघलने लगी. जब तक गाड़ी का इंजन चलता रहा तो फ्रीजर काम करने से आइसक्रीम सही रहा. डीजल खत्म होते ही इंजन बंद होने से फ्रीजर ने काम करना बंद कर दिया. लिहाजा, गर्मी के कारण आइसक्रीम पिघलने लगी. गाड़ी चालक ने जब ट्रांसपोर्टर से समस्या बताई तो उसने डीजल देने से मना कर दिया. वहीं कॉमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारी आइसक्रीम को बचाने के लिए पूरे दिन जुगत में लगे रहे लेकिन देर शाम तक कोई व्यवस्था नहीं हो सकी.

बरेली, सम्भल और मुरादाबाद जा रहा था माल

गाजियाबाद की फर्म गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन से अमूल आइसक्रीम एक फ्रीजर युक्त ट्रक में लाई जा रही थी. ट्रक संख्या डीएल-1 एम 6961 में करीब 4.50 लाख रुपए के 236 कैरेट आइसक्रीम थे. जो कि, पुशंस बरेली, हंसानंद सम्भल और बालाजी मुरादाबाद फर्म के यहां डिलीवर होना था. लेकिन जैसे ही आइसक्रीम लदा ट्रक थर्सडे रात स्टेडियम रोड पहुंचा तो कॉमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट की एसआईबी टीम ने ट्रक को रोक लिया. डॉक्यूमेंट में खामियां मिलने पर माल सहित ट्रक को जब्त कर लिया गया. कॉमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट के अधिकारियों ने बताया कि चालक को जब रसीद, बिल्टी दिखाने को कहा गया तो रसीद में तमाम खामियां मिलीं. रसीद पर बैच नम्बर नहीं थे. जबकि, माल पर जो बैच नम्बर होता है, वह रसीद पर भी होना जरूरी होता है. इसके बाद माल सहित ट्रक को जब्त कर लिया गया.

आइसक्रीम बचाने में लगे रहे

माल जब्त कर टीम ने कैंट ऑफिस के कैम्पस में ट्रक को खड़ा करवा दिया. ट्रक खड़ा होने के बाद भी उसका इंजन चलता रहा. ताकि, फ्रीजर बंद न हो. लेकिन सुबह होते-होते डीजल खत्म होने लगा. जिसकी वजह से चालक ने ट्रक का इंजन बंद कर दिया. जब उसने अपने मालिक को फोन लगाया तो उसने डीजल खरीद कर ट्रक का इंजन चलाने से मना कर दिया. लिहाजा, फ्राइडे दोपहर होते ही ट्रक की बॉडी गर्म होने और फ्रीजर बंद रहने के कारण आइसक्रीम पिघलनी शुरू हो गई. इसकी जानकारी जैसे ही डिपार्टमेंट के अधिकारियों को लगी उन्होंने वाडीलाल आइसक्रीम वालों से संपर्क किया. ताकि, उनके फ्रीजर में ट्रक से सारा माल निकाल कर शिफ्ट किया जा सके. लेकिन, शाम 6 बजे तक कोई बात नहीं बनी थी. जिसकी वजह से काफी आइसक्रीम बर्बाद हो चुकी थी.

खास ट्रक से आइसक्रीम की होती है डिलीवरी

दरअसल, आइसक्रीम गर्मी के संपर्क में आते ही पिघलने लगती है. लिहाजा, जहां माल तैयार होता है, वह एरिया काफी कूल होता है. माल को भी फ्रीजर वाले ट्रक से ही सप्लाई किया जाता है. जो कि इंजन से काम करता है. मसलन, जब तक इंजन चलता है फ्रीजर काम करता है. इंजन बंद होते ही फ्रीजर काम करना बंद कर देता है. फ्रीजर के बंद होने पर एक-दो घंटे तक कोई दिक्कत नहीं होती है. लेकिन इससे अधिक समय बीतते पर फ्रीजर का इंटरनल हिस्सा गर्म होने लगता है. जिससे फ्रीजर में रखे माल के खराब होने का चांस बढ़ जाता है.

गाजियाबाद से आ रहा अमूल आइसक्रीम लदा ट्रक पकड़ा गया है. रसीद पर बैच नम्बर नहीं था. जिसकी वजह से माल को ट्रक सहित जब्त कर लिया गया. ट्रक का फ्रीजर बंद होने से माल के खराब होने का डर है. जिसकी व्यवस्था की जा रही है.

एसपी सिंह, एडिशनल कमिश्नर एसआईबी, कॉमर्शियल टैक्स डिपार्टमेंट