-यूनिवर्सिटी और पुलिस प्रशासन की संयुक्त बैठक में अराजकतत्वों पर शिकंजा कसने की बनाई गई रणनीति

-15-15 दिनों के भीतर हॉस्टल का किया जाएगा औचक निरीक्षण

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के कैंपस से लेकर हॉस्टलों में अराजकतत्वों पर अंकुश लगाने के लिए विवि प्रशासन ने तैयारियां कर ली हैं. हॉस्टल्स में किसी भी रूप में अराजक तत्व न घुसने पाएं इसके लिए प्रत्येक पंद्रह दिनों के अंतराल पर विवि व पुलिस प्रशासन द्वारा संयुक्त रूप से औचक निरीक्षण का निर्णय लिया गया है. हॉस्टलों में निरीक्षण के दौरान वैध छात्रों के अलावा कोई अवैध तरीके से वहां रहता मिला तो वैध छात्र का शुल्क जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी.

कैंपस में चार पहिया पर बैन

कमिश्नर डॉ. आशीष कुमार गोयल द्वारा विवि में अनुशासन व्यवस्था को बनाए रखने के लिए गठित कमेटी की बैठक में कई और निर्णय लिए गए हैं. कमेटी की बैठक में विवि कैंपस में चार पहिया वाहनों की एंट्री पर बैन लगाने पर सहमति बनी तो हॉस्टलों में आगंतुक रजिस्ट्रर पर बिना हस्ताक्षर के एंट्री नहीं देने का निर्णय भी हुआ. साथ ही हॉस्टलों में मेस का भोजन नहीं करने वाले छात्रों को अपात्र समझने का निर्णय भी लिया गया. बैठक में डीएसडब्ल्यू प्रो. हर्ष कुमार, चीफ प्रॉक्टर प्रो. आरके दुबे, अपर नगर मजिस्ट्रेट विवेक कुमार चतुर्वेदी व सीओ रत्‍‌नेश सिंह सहित हॉस्टलों के वार्डन व सुपरिटेंडेंट मौजूद रहे.

-----------

पीजी छात्रों के लिए हॉस्टल की गाइडलाइन जारी

-उन्हीं छात्र-छात्राओं को हॉस्टल में प्रवेश दिया जाएगा, जिन्होंने प्रवेश परीक्षा आवेदन पत्र में हॉस्टल का विकल्प चुना है.

-प्रवेश परीक्षा की मेरिट के आधार पर प्रवेश दिया जाएगा.

-यदि दो या दो से अधिक अभ्यर्थियों का प्रवेश परीक्षा में अंक समान होता है तो हॉस्टल में प्रवेश के लिए मेरिट उनके स्नातक के अंकों के आधार पर होगी.

-पीजी छात्राओं के प्रवेश के लिए महिला हॉस्टल में रिक्त सीटों की गणना एक साथ की जाएगी, इसी तरह छात्रों के लिए भी रखा गया है.

-प्रवेश प्रक्रिया पूरा करने के लिए दो कमेटी गठित की गई है.

-महिला हॉस्टल के लिए कमेटी के संयोजक डीएसडब्ल्यू व पीजी प्रवेश के लिए हॉस्टल के अधीक्षक सदस्य होंगे. ऐसी ही कमेटी पुरुष हॉस्टल के लिए भी हैं.

-छात्राओं के लिए सरोजनी नायडू हॉस्टल और छात्रों के लिए डॉ. ताराचंद्र, सर सुंदर लाल, डायमंड जुबली और गंगा नाथ झा हॉस्टल की व्यवस्था की गई है.

-किसी छात्र-छात्रा के लिए हॉस्टल विशेष का आवंटन प्रवेश कमेटी का अधिकार होगा.

-हॉस्टल आवंटन की सूची तैयार होने और कोर्स की फीस जमा करने के तीन दिनों के भीतर प्रवेश दिया जाएगा.

-प्रवेश सूची निर्गत होने की तिथि पंद्रह जुलाई निर्धारित की गई है और हॉस्टल में प्रवेश लेने की तिथि विवि के संबंधित कोर्स में प्रवेश शुल्क जमा करने के तीन दिनों के भीतर रखी गई है.

परास्नातक छात्र-छात्राओं को हॉस्टल आवंटित करने के लिए गाइड लाइन जारी कर दी गई है. पीजी प्रवेश परीक्षा की मेरिट और सीटों की उपलब्धता के आधार पर हॉस्टल आवंटित किया जाएगा. इसके लिए दो कमेटियों का गठन भी किया गया है.

-प्रो. हर्ष कुमार, डीएस डब्ल्यू इविवि

-------------

सोशल मीडिया पर टिप्पणी, मिली दूसरी नोटिस

प्राचीन इतिहास एमए अंतिम वर्ष के छात्र गौरव तिवारी को सोशल मीडिया के फेसबुक और ट्विटर जैसे माध्यम पर विवि के छात्र-छात्राओं, शिक्षकों, केन्द्रीय मंत्री व रेक्टर यानि गवर्नर के खिलाफ अभद्र व आपत्तिजनक भाषा का प्रयोग करना मंहगा पड़ गया है. चीफ प्रॉक्टर प्रो. आरके दुबे ने गौरव तिवारी को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए चार जुलाई तक स्पष्टीकरण देने का निर्देश दिया था, लेकिन छात्र ने स्पष्टीकरण नहीं दिया. प्रो. दुबे ने गुरुवार को दूसरी बार नोटिस जारी करते हुए 25 जुलाई तक का अंतिम मौका दिया है. अगर इस तिथि तक छात्र द्वारा स्पष्टीकरण नहीं दिया गया तो उसके खिलाफ साइबर क्राइम अभियोग दर्ज करने के लिए एफआईआर दर्ज कराई जाएगी.

------------

गाली-गलौज पर दो को नोटिस

सर पीसी बनर्जी हॉस्टल के नव प्रवेशी छात्रों के साथ हॉस्टल परिसर में गाली-गलौज और धमकी देने पर चीफ प्रॉक्टर प्रो. दुबे ने बीएससी सेकंड ईयर के आयुष कुमार और आकाश वर्मा को कारण बताओ नोटिस जारी की है. दोनों छात्रों को शुक्रवार को दोपहर दो बजे लिखित स्पष्टीकरण के साथ प्रॉक्टर ऑफिस में पहुंचने का निर्देश दिया गया है.