कानपुर। भारत बनाम वेस्टइंडीज के बीच दो मैचों की टेस्ट सीरीज का आगाज गुरुवार को हो गया। एंटीगुआ में खेले जा रहे पहले टेस्ट के पहले दिन भारत को बल्लेबाजी का न्यौता मिला। रन मशीन विराट कोहली से फैंस को काफी उम्मीद थी कि वह इस मैच में शानदार पारी खेलेंगे मगर कोहली 9 रन बनाकर ही पवेलियन लौट गए। वैसे कोहली का विंडीज के खिलाफ ओवरऑल टेस्ट रिकाॅर्ड भले औसत रहा है मगर विंडीज गेंदबाजों ने किंग कोहली का अक्सर परेशान किया है। एक वक्त ऐसा भी था जब दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज विराट कोहली कैरेबियाई गेंदबाजों से खौफ खाते थे। क्रिकइन्फो के डेटा के मुताबिक, विराट ने अपने टेस्ट करियर की शुरुआत वेस्टइंडीज के खिलाफ ही की थी और पहली ही सीरीज में वह बुरी तरह फ्लॉप रहे थे।

ind vs wi test : इस कैरेबियाई गेंदबाज के चलते खत्म हो सकता था विराट का टेस्ट करियर

वेस्टइंडीज के खिलाफ डेब्यू टेस्ट में रहे थे फ्लॉप

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने अपना पहला टेस्ट 20 जून 2011 को वेस्टइंडीज के खिलाफ किंग्सटन में खेला था। उस वक्त टीम इंडिया तीन मैचों की टेस्ट सीरीज खेलने कैरेबियाई देश आई थी। इस सीरीज में विराट कोहली ने कुल 76 रन बनाए थे। कोहली के इस खराब प्रदर्शन के जिम्मेदार कैरेबियाई गेंदबाज फिडेल एडवर्ड्स थे जिन्होंने शुरुआती चार पारियों में तीन में विराट को आउट किया था। ऐसा लग रहा था कि कोहली फिडेल की गेंदों को समझ नहीं पा रहे थे। हालांकि जब यह टेस्ट सीरीज खेली गई तब तक विराट को इंटरनेशनल करियर शुरु किए तीन साल हो गए थे वह वनडे मैचों में अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे मगर डेब्यू टेस्ट को वह यादगार बनाने में असफल रहे। पहली टेस्ट सीरीज में फ्लाॅप होने के बाद कोहली की किस्मत अच्छी थी कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अगली टेस्ट सीरीज में जगह मिल गई। वरना हमारे सामने रोहित शर्मा का बिल्कुल सटीक उदाहरण हैं जो वनडे के सबसे खतरनाक बल्लेबाल हैं मगर भारतीय टेस्ट टीम में आज तक अपना स्थान पक्का नहीं कर पाए।

ind vs wi test : इस कैरेबियाई गेंदबाज के चलते खत्म हो सकता था विराट का टेस्ट करियर

10 पारियों बाद लगा पाए पहला शतक

वेस्टइंडीज के खिलाफ विराट कोहली का टेस्ट करियर अभी भी ज्यादा बेहतर नहीं है। कैरेबियंस के खिलाफ उन्हें पहला शतक लगाने में 10 पारियां खेलनी पड़ी हालांकि उसके बाद विराट ने सीधा दोहरा शतक जड़ा। ओवरऑल देखा जाए तो कोहली ने वेस्टइंडीज के विरुद्ध कुल 13 टेस्ट खेले जिसमें 17 पारियों में उन्होंने 43.43 की औसत से कुल 695 रन अपने नाम किए। इस दौरान उनके बल्ले से 2 शतक और 3 अर्धशतक निकले।

Ind vs WI Test : कोहली से 2 शतक ज्यादा लगाए अश्विन ने, फिर भी नहीं टीम में

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk