बेंगलुरु (पीटीआई)। भारतीय टेस्ट क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा और युवा बल्लेबाज मयंक अग्रवाल भारत के पहले डे-नाइट टेस्ट के लिए तैयारी में जुट गए हैं।यह दोनों भारतीय बल्लेबाज एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में गुलाबी गेंद से अभ्यास कर रहे हैं। भारत और बांग्लादेश 22 नवंबर से कोलकाता के ईडन गार्डन में लाइट के नीचे अपना पहला टेस्ट खेलेंगे। भारत में भी पहली बार कोई टेस्ट मैच डे-नाइट का आयोजित किया जा रहा। ऐसे में इस टेस्ट के लिए मैनेजमेंट के साथ-साथ खिलाड़ी भी तैयारियों में जुट गए।

द्रविड़ करवा रहे अभ्यास

बांग्लादेश टी-20 सीरीज से बाहर अजिंक्य रहाणे, ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा और हनुमा विहारी, तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी और ईशांत शर्मा भी फिलहाल एनसीए में प्रैक्टिस कर रहे हैं। ये सभी पिंक बाॅल से अभ्यास करने में लगे हैं ताकि उनमें पहले डे-नाइट टेस्ट के लिए कोई कमी न रह जाए। इस टेस्ट को शुरु होने में अभी 15 दिन का वक्त है मगर भारतीय टेस्ट क्रिकेटरों ने एनसीए के प्रमुख और पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ की निगरानी में अभ्यास करना शुरु कर दिया है।

टी-20 के बाद टेस्ट की जंग

भारत बनाम बांग्लादेश के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज के बाद दो मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जाएगी। पहला टेस्ट जहां इंदौर में होगा वहीं दूसरा कोलकाता में आयोजित किया जाएगा। यह डे-नाइट टेस्ट होगा। भारतीय टीम पहली बार डे-नाइट टेस्ट खेलने जा रही है। ऐसे में बोर्ड से लेकर ब्राॅडकाॅस्टर तक इस टेस्ट को यादगार बनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते।

पहली बार पिंक बाॅल का इस्तेमाल

भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला डे-नाइट टेस्ट मैच अगले महीने बांग्लादेश के खिलाफ खेलेगी। यह टेस्ट ईडन गार्डन्स में 22-26 नवंबर को होने वाला है और यह दो मैचों की श्रृंखला का दूसरा मैच होगा। बीसीसीआई के नए अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने कुछ दिनों पहले मैच को लेकर बताया था कि, बीसीबी ने पुष्टि की है और हम गुलाबी गेंद से टेस्ट करवा रहे हैं। यह एक अच्छा प्रयोग है। टेस्ट क्रिकेट को इसकी जरूरत है। मैं और मेरी टीम इस पर जुटी हुई थी और अब अब भारतीय कप्तान विराट कोहली भी राजी हो गए।" मैच दोपहर 2 बजे (IST) से शुरू होगा और इसमें चाय और डिनर ब्रेक शामिल होंगे।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk