कोलकाता / ढाका (पीटीआई)। भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला डे-नाइट टेस्ट मैच अगले महीने बांग्लादेश के खिलाफ खेलेगी। यह टेस्ट ईडन गार्डन्स में 22-26 नवंबर को होने वाला है और यह दो मैचों की श्रृंखला का दूसरा मैच होगा। बीसीसीआई के नए अध्यक्ष और पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने पीटीआई को बताया, "बीसीबी ने पुष्टि की है और हम गुलाबी गेंद से टेस्ट करवा रहे हैं। यह एक अच्छा प्रयांग है। टेस्ट क्रिकेट को इसकी जरूरत है। मैं और मेरी टीम इस पर जुटी हुई थी और अब अब भारतीय कप्तान विराट कोहली भी राजी हो गए।" मैच दोपहर 2 बजे (IST) से शुरू होगा और इसमें चाय और डिनर ब्रेक शामिल होंगे।


बांग्लादेश ने स्वीकार दादा का प्रस्ताव
वहीं बांग्लादेश के कोच रसेल डोमिंगो ने भी भारत के डे-नाइट टेस्ट खेलने का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। डोमिंगो ने कहा, "हमें लगता है कि यह एक शानदार अवसर है। मुझे नहीं लगता कि भारत ने पहले गुलाबी गेंद का टेस्ट खेला हो। यह ईडन गार्डन्स में दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीमों में से एक है। हम उस चुनौती का इंतजार कर रहे हैं। कुछ चुनौतियां हैं, क्योंकि हमारे पास तैयारी के लिए बहुत समय नहीं होगा, लेकिन यह भारत के लिए भी समान है।' बांग्लादेशी कोच ने आगे कहा कि, भारत के पास भी डे-नाइट टेस्ट खेलने का अनुभव नहीं है ऐसे में दोनों टीमें पहली बार यह एक्सपीरियंस करेंगी।

गुलाबी गेंद का होगा टेस्ट
बता दें भारत की तरफ से रिद्धिमान साहा और मोहम्मद शमी के पहले गुलाबी टेस्ट खेलने की उम्मीद की जाती है। दरअसल बीसीसीआई ने दलीप ट्रॉफी में गुलाबी गेंद का प्रयोग किया था। मयंक अग्रवाल, रविचंद्रन अश्विन, कुलदीप यादव, ईशांत शर्मा भी उन खिलाड़ियों में शामिल हैं जिन्होंने गुलाबी गेंद से दलीप मैच खेला है। गुलाबी गेंद को लेकर सबसे बड़ी समस्या है कि यह स्पिनरों की मददगार नहीं होती। इसको लेकर गांगुली ने कहा, "हम इसे सुलझा लेंगे और कोई ओस नहीं होगी। हमारे पास दिन-रात एक करने के बाद और ओस स्प्रे का इस्तेमाल होता है।"


टेस्ट क्रिकेट को रोचक बनाना है

गांगुली ने बोर्ड प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालने के एक सप्ताह के भीतर एक बड़ा कदम उठाया है। उन्होंने कहा, "यह सिर्फ मेरा काम है, इसीलिए मैं यहां हूं ... क्योंकि मैंने इस खेल को इतने लंबे समय तक खेला है। मुझे लगता है कि यह टेस्ट क्रिकेट के लिए एक शानदार कदम है और उम्मीद है कि यह मैदान पर भीड़ लाएगा।" बताते चलें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के बीच 2015 में पहली बार डे-नाइट टेस्ट खेला गया था और अब तक 11 डे-नाइट टेस्ट खेले जा चुके हैं। हाल ही में डे-नाइट टेस्ट इस साल जनवरी में ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका के बीच ब्रिस्बेन में हुआ था।

 

 

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari

Cricket News inextlive from Cricket News Desk