तेहरान (एएफपी)। तेहरान के इमाम खुमैनी हवाई अड्डे से उड़ान भरने के तुरंत बाद यूक्रेन का एक यात्री विमान बुधवार को क्रैश हो गया। इस हादसे में सभी 170 यात्रियों की जान चली गई है। अब इस हादसे के कारण का पता लगाने के लिए ईरान के अधिकारी जांच में जुटे हैं। ईरान द्वारा गुरुवार को जारी एक प्रारंभिक रिपोर्ट में बताया गया है कि यूक्रेनी विमान के क्रू सदस्यों ने फ्लाइट क्रैश होने से पहले कभी भी मदद के लिए रेडियो कॉल नहीं किया और जब विमान नीचे गिरने लगा तो पायलट फ्लाइट को वापस हवाई अड्डे की तरफ लाने की कोशिश कर रहा था। रिपोर्ट ने यह भी सुझाव दिया है कि बुधवार की सुबह एयरपोर्ट से उड़ान भरने के बाद तकनीकी खराबी के चलते यूक्रेनी इंटरनेशनल एयरलाइंस द्वारा संचालित बोइंग 737 में अचानक इमरजेंसी आ गई और वह नीचे गिरने लगा।

क्रैश से पहले विमान में लगी आग

हालांकि, ईरान के सिविल एविएशन आर्गेनाईजेशन के जांचकर्ताओं ने इस हादसे को लेकर फिलहाल कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि कुछ प्रत्यक्षदर्शियों ने दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले विमान को आग की लपटों में घिरा हुआ देखा। बता दें कि विमान के जमीन से टकराने पर भारी विस्फोट हुआ क्योंकि विमान पूरी तरह से ईंधन से भरा हुआ था। रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि फ्लाइट से कोई भी डेटा नहीं निकाला जा सका है क्योंकि उसके कई हिस्से क्षतिग्रस्त या तो गायब हो गए हैं।

ईरान में यूक्रेन का बोइंग विमान क्रैश, सभी 170 यात्रियों की मौत

जांच के लिए यूक्रेन से ईरान पहुंचे अधिकारी

इस बीच, यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की ने कहा कि उनके देश से कुछ जांचकर्ता ईरान में जांच में सहायता के लिए पहुंच गए हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने दुर्घटना और जांच को लेकर ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी से फोन पर बात की है। राष्ट्रपति ने कहा कि दुर्घटना के कारण का पता लगा लिया जाएगा और जल्द ही सच सबके सामने होगा। बता दें कि विमान में 82 ईरानी, कम से कम 63 कनाडाई और 11 यूक्रेनियन सहित कई देशों के 167 यात्री और चालक दल के नौ सदस्य सवार थे।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk