टोक्यो (रॉयटर्स) जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने मंगलवार को प्रमुख जनसंख्या केंद्रों में कोरोना वायरस के संक्रमणों से लड़ने के लिए आपातकाल की घोषणा की है और आर्थिक प्रहार को नरम करने के लिए एक प्रोत्साहन पैकेज का अनावरण किया है। इमरजेंसी 6 मई तक लागू रहेगी और इसे राजधानी टोक्यो और छह अन्य प्रान्तों में लगाया जाएगा। माना जाता है कि इन इलाकों में जापान की 44 प्रतिशत आबादी रहती है। आपातकाल के दौरान, अधिकारी लोगों पर दबाव बनाकर उन्हें घर में रहने और सारे बिजनेस को बंद करने के लिए मजबूर कर सकते हैं। आबे ने अपने बयान में कहा, 'सबसे महत्वपूर्ण बात अब प्रत्येक नागरिक को हमारे कार्यों को बदलना है। यदि हम में से प्रत्येक अन्य लोगों के साथ कम से कम 70 प्रतिसहत और आदर्श रूप से 80 प्रतिशत तक संपर्क कम कर सकते हैं, तो हम दो सप्ताह में संक्रमणों की संख्या पर काबू पा सकते हैं।'

आर्थिक समस्या से निपटने के लिए पैकेज की घोषणा

वहीं, जापान सरकार ने कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए 998 बिलियन डॉलर का इमरजेंसी इकोनॉमिक प्रोत्साहन पैकेज का अनावरण किया है। बता दें कि टोक्यो में कोरोना वायरस संक्रमण पिछले एक हफ्ते में दोगुना होकर लगभग 1,200 से अधिक हो गया है। केवल मंगलवार को 80 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इसके अलावा देश भर 4000 से अधिक लोग संक्रमित हैं और सोमवार तक 93 लोगों की जान जा चुकी है। आबे ने जोर देकर कहा है कि औपचारिक तालाबंदी लागू करने के बजाय आपातकाल से मामलों में कमी आएगी।

Posted By: Mukul Kumar

International News inextlive from World News Desk

inext-banner
inext-banner