मिलकर बनायेंगे समीकरण
सत्ताधारी पार्टी जेडीयू ने बिहार विस की 10 सीटों पर अगले महीने होने वाला उपचुनाव आरजेडी के साथ तालमेल कर लड़ने का फैसला किया है. बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह की उपस्थिति में रविवार को पार्टी की राज्य कार्यकारिणी बैठक के बाद मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा कि,'हम लोगों ने आरजेडी के साथ मिलकर उपचुनाव लड़ने का फैसला किया है. हम लक्ष्य बीजेपी को रोकना है, इसके लिये हम हर कदम उठा सकते हैं और जरूरत पड़ने पर किसी के साथ भी जाने को तैयार हैं.'

बीजेपी के लिये लिटमस टेस्ट

जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने साफ किया कि यह गठबंधन नहीं बल्कि उनकी पार्टी उपचुनाव आरजेडी के साथ केवल सीटों का तालमेल कर लड़ेगी. इसके साथ ही सीटों के तालमेल को लेकर अगले कुछ दिनों में दोनों दलों के नेतृत्व के बीच चर्चा होगी. उन्होंने कहा कि इन दोनों दलों के बीच गठबंधन को लेकर उचित समय पर वार्ता होगी. हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में भारी विजय हासिल करने वाली बीजेपी के बारे में सिंह ने कहा कि यह उपचुनाव उसके लिए लिटमस टेस्ट होगा. उन्होंने कहा कि हाल में लोकसभा चुनाव में जीत के बाद ये लोग जितना दावा कर रहे हैं, इस उपचुनाव में उनकी कलई खुल जाएगी और हम लोग भारी बहुमत से सभी सीटों पर जीतेंगे. निर्वाचन आयोग ने शनिवार को बिहार की 10 विधानसभा सीटों नरकटियागंज, राजनगर, जाले, छपरा, हाजीपुर, मोहिउदीननगर, परबत्ता, भागलपुर, बांका और मोहनिया पर आगामी 21 अगस्त को उपचुनाव कराए जाने की घोषणा की थी. इन सीटों में से 6 पर बीजेपी, तीन आरजेडी और एक जेडीयू के पास थी.

National News inextlive from India News Desk