- चारों धाम के कपाट खुलने की डेट हुई तय, गंगोत्री-यमुनोत्री के 7 और बद्रीनाथ के 10 मई को खुलेंगे कपाट

- ऊखीमठ में पंचगद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर में तय हुई केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की डेट

RUDRAPRAYAG: बारह ज्योतिर्लिगों में से एक केदारनाथ धाम के कपाट नौ मई को ग्रीष्मकाल के लिए खोले जाएंगे. बाबा केदार की उत्सव डोली छह मई को ऊखीमठ स्थित पंचगद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर से केदारनाथ के लिए प्रस्थान करेगी. इसी के साथ चारोंधाम के कपाट खुलने की डेट घोषित हो गई हैं. सात मई को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खोले जाएंगे. 10 मई को बद्रीनाथ धाम और 25 मई को हेमकुंड साहिब के कपाट खोले जाएंगे.

ज्योतिष गणना के बाद निकला शुभ मुहूर्त
मंडे को ओंकारेश्वर मंदिर में वेदपाठियों, हकहकूकधारियों, बदरी-केदार मंदिर समिति के पदाधिकारियों और जिला प्रशासन की मौजूदगी में ज्योतिष गणना के बाद शुभ मुहूर्त निकाला गया. केदारनाथ के रावल भीमाशंकर लिंग ने औपचारिक घोषणा करते हुए बताया कि कपाट नौ मई को सुबह 5.35 पर खोले जाएंगे. छह मई को परंपरानुसार ओंकारेश्वर मंदिर में भैरवनाथ की पूजा की जाएगी और इसके बाद उत्सव डोली केदारनाथ रवाना होगी. फाटा में रात को विश्राम के बाद डोली सात मई को गौरकुंड पहुंचगी और अगले दिन आठ मई केदारनाथ के लिए रवाना होगी. नौ मई को सुबह 5 बजकर 35 मिनट पर विधि विधान के साथ मंदिर के कपाट खोल दिए जाएंगे. उधर, गोविंदघाट गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के वरिष्ठ प्रबंधक सेवा सिंह ने बताया कि सिखों के प्रसिद्ध तीर्थ हेमकुंड साहिब के कपाट 25 मई को खोले जाएंगे. इसी दिन लोकपाल लक्ष्मण मंदिर के कपाट भी खोले जाएंगे. बर्फबारी के कारण हेमकुंड साहिब में 15 से 20 फीट जमी है. सेना बर्फ हटाने का कार्य 25 अप्रैल से शुरू करेगी.