जियो न्यूज़ को दिए इंटरव्यू में वक़ार ने कहा कि एक वरिष्ठ खिलाड़ी के नाते शाहिद अफ़रीदी को अपनी प्राथमिकताओं पर फिर से विचार करना चाहिए.

उन्होंने कहा, "हमेशा वे किसी न किसी की आलोचना करते रहे हैं और अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं. अब समय आ गया है कि वे अपना मुँह बंद रखें और अपने क्रिकेट पर ध्यान दें."

वक़ार ने कहा कि उन्हें ऐसा लगता है कि अफ़रीदी हमेशा किसी न किसी के बारे में बेबुनियाद और बेकार की टिप्पणी करके सस्ती लोकप्रियता पाने की तलाश में रहते हैं.

दूसरी ओर अफ़रीदी ने वक़ार यूनुस की टिप्पणी पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया. उन्होंने बस इतना ही कहा कि उन्हें विवादों में खींचने और विवादित बनाने की कोशिश की जा रही है.

विवाद

वक़ार और अफ़रीदी के बीच विवाद उस समय सामने आया था, जब इस साल मई में वेस्टइंडीज़ के दौरे के बाद अफ़रीदी ने आरोप लगाया था कि वक़ार कप्तान की उनकी भूमिका में दखल देते हैं.

उस समय अफ़रीदी वनडे टीम के कप्तान और वक़ार टीम के कोच थे. टीम के मामलों को सार्वजनिक करने के आरोप में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने शाहिद अफ़रीदी को कप्तान पद से हटा दिया.

इसके विरोध में अफ़रीदी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी. लेकिन हाल ही में अफ़रीदी ने ये घोषणा की कि वे राष्ट्रीय टीम में चयन के लिए उपलब्ध हैं.

उन्हें इस महीने श्रीलंका के ख़िलाफ़ शुरू हो रही वनडे सिरीज़ के लिए टीम में शामिल भी किया गया है. वक़ार यूनुस ने सितंबर में ज़िम्बाब्वे के दौरे के बाद पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कोच का पद छोड़ दिया था. इंटरव्यू के दौरान वक़ार यूनुस ने कहा कि अफ़रीदी को हर किसी से समस्या है.

Cricket News inextlive from Cricket News Desk