आगरा कोयला के सौदे में लगाया एक लाख का चूना

2019-02-05T12:10:49Z

रुपया ट्रांसफर होने के बाद कॉल उठाना कर दिया बंद। पीडि़त ने एसएसपी कार्यालय की शिकायत।

agra@inext.co.in
AGRA : सिटी में एक बार फिर से साइबरों के शातिरों ने कोयला बेचने के बहाने रुपया दो बार नेफ्ट करा लिया। अकाउंट में रुपये पहुंचने के बाद शातिर ने मोबाइल बंद कर दिया। पीडि़त ने मामले की शिकायत पुलिस से की। साइबर सेल ने जांच की, लेकिन मामले में कोई प्रगति नहीं हुई। पीडि़त ने एसएसपी कार्यालय में मदद की गुहार लगाई।
बुक किया था माल
शमसाबाद रोड, रीतिका विहार, रजरई निवासी रघुवीर सिंह का कोयले का काम है। रघुवीर असोम से कोयला मंगवाते हैं। दिसम्बर 2018 में उन्होने ऑनलाइन ट्रांसपोर्ट कंपनी से मोबाइल नंबर लेकर माल बुक किया था। माल की कीमत 1.40 लाख तय कर दी गई। इसके बाद ट्रांसपोर्ट कंपनी की तरफ से कॉल आया
फोन न उठने पर हुआ ठगी का अहसास
कोयला विक्रेता लगातार कॉल करता रहा, लेकिन कॉली रिसीव नहीं हुआ। इसी के बाद ठगी का अहसास हुआ। पीडि़त ने मामले में पुलिस से शिकायत की। मामला साइबस सेल पहुंच गया लेकिन इसके बाद भी उसके मामले में कोई अपडेट नहीं मिल पाई। केस सॉल्व न होने पर पीडि़त एसएसपी कार्यालय शिकायत लेकर पहुंचा था।
दो बार रुपये कराए जमा
कोयला विक्रेता ने पहले 71400 रुपये नेफ्ट करा दिए। इसके बाद शातिर का कॉल आया कि पेमेंट उनके पास नहीं पहुंचा। उसने फिर से पेमेंट करने की बात कही। इस पर रघुवीर ने फिर से रुपया नेफ्ट करा दिया। उनका कुल 111400 रुपया कंपनी कर्मचारी द्वारा बताए गए अकाउंट में जमा करा दिया गया। पीडि़त के मुताबिक उसने खुद पता किया कि कॉल पर जिस अकाउंट का नंबर बताया, वह हाथरस है। इसके अलावा शातिरों ने मथुरा से रुपयों की निकासी की है। पूर्व में भी शातिरों ने नेफ्ट के द्वारा एक युवक को चूना लगा दिया था।

मेरठ में छात्रा से अश्लीलता, बस परिचालक को लोगों ने जमकर पीटा


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.