वास्तु के अनुसार सजाएंगे घर तो पॉजिटिव एनर्जी के साथ रहेगा खुशनुमा माहौल जानें 7 आसान उपाय

2018-12-20T10:13:27Z

ड्राइंग रूम में सोफासेट दक्षिण पश्चिम की तरफ रखें। टेलीविजन पश्चिम में लगाएं। म्यूजिक सिस्टम उत्तर दिशा की तरफ रखें और रोज प्रात कोई ना कोई भक्ति संगीत अवश्य बजाएं। इससे घर के माहौल में पॉजिटिविटी आती है।

नमस्कार मित्रों आज हम वास्तु वाइब्स द्वारा घर को सजाते हैं। संवारते हैं घर का मुख्य अंग हमारा ड्राइंग रूम। यहां कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। अगर हम इस कमरे में वास्तु वाइब्स का ध्यान दें, तो न केवल इस कमरे की सजावट से खुद को अच्छा महसूस होगा, बल्कि जो अतिथि भी हमारे यहां आएंगे, वह भी खुश और संतुष्ट हो कर जाएंगे।

1. ड्राइंग रूम में सोफासेट दक्षिण पश्चिम की तरफ रखें। टेलीविजन पश्चिम में लगाएं। म्यूजिक सिस्टम उत्तर दिशा की तरफ रखें और रोज प्रात: कोई ना कोई भक्ति संगीत अवश्य बजाएं। इससे घर के माहौल में पॉजिटिविटी आती है।

2. यहां पर दीवारों पर रंगों का चयन हल्का ही रखें और पर्दे का रंग भी दीवारों के रंग से मेल खाता ही पसंद करें।


3. यदि सजावट के लिए कोई शो पीस या कोई पोस्टर लगाना चाहते हैं तो यह ध्यान दें कि उसमें किसी भी तरह की हिंसा ना हो या कोई ऐसा सन्देश ना हो, जिसमें किसी भी तरह का दु:ख, अपराध भाव या युद्ध दर्शाने वाली बात लिखी हो। ऐसा होने से नकारात्मक ऊर्जा धीरे धीरे स्थान बनाने लगती है, फिर यहां पर बैठने से या किसी भी तरह की बैठक करने से उसका नतीजा अच्छा नहीं निकालता है।

4. ड्राइंग रूम में उत्तर पूर्व दिशा की तरफ काला क्रिस्टल और दक्षिण पश्चिम में गुलाबी क्वाट्र्ज रखने से घर का और ड्राइंग रूम का माहौल खुशनुमा बनाता है।

5. ड्राइंग रूम की शोभा बढ़ाने के लिए पूर्व की तरफ मछलियां रख सकते हैं। पूर्व, दक्षिण की तरफ यहां फ्रेश फ्लावर्स भी रखना आप के मूड को बेहतर बनाने में सहायक होंगे। फ्लावर्स को फ्लावर बेस में रखें तो इसके और बेहतर परिणाम सामने आते हैं।


6. बड़े फर्नीचर को दक्षिण पश्चिम में ही स्थान दें, तो इसका सकारात्मक असर दिखेगा। परिवार के सदस्यों की ग्रुप फोटो भी यहां फ्रेमिंग करा कर कमरे पश्चिम कोने में लगा सकते हैं। इससे परिवार के बीच आपसी संबंध मधुर रहते हैं और एक-दूसरे के लिए प्यार बढ़ता है।

7. ड्राइंग रूम में यदि डाइनिंग टेबल रखनी है तो यहां रख सकते हैं, लेकिन ध्यान रखें कि यह दीवार से सटी हुई न हो। यह भी जरूर ध्यान दें कि डाइनिंग टेबल पर जब भी परिवार के सदस्य बैठें तो उनका मुख दक्षिण दिशा की तरफ ना हो। हां, गृह स्वामी जब भी यहां बैठे तो उनका बैठना दक्षिण में हो और मुख उत्तर दिशा की तरफ हो तो अच्छा है। डाइनिंग टेबल चौकोर हो तो इसके अच्छे परिणाम मिलते हैं।

वास्तु टिप्स: व्यापार और करियर में कुबेर दिलाएंगे सफलता, अपनाएं ये आसान उपाय

घर, दुकान या ऑफिस वास्तु के अनुकूल न हों, तो जानें क्या पड़ता है प्रभाव

 

नमस्कार मित्रों आज हम वास्तु वाइब्स द्वारा घर को सजाते हैं। संवारते हैं घर का मुख्य अंग हमारा ड्राइंग रूम। यहां कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। अगर हम इस कमरे में वास्तु वाइब्स का ध्यान दें, तो न केवल इस कमरे की सजावट से खुद को अच्छा महसूस होगा, बल्कि जो अतिथि भी हमारे यहां आएंगे, वह भी खुश और संतुष्ट हो कर जाएंगे।

1. ड्राइंग रूम में सोफासेट दक्षिण पश्चिम की तरफ रखें। टेलीविजन पश्चिम में लगाएं। म्यूजिक सिस्टम उत्तर दिशा की तरफ रखें और रोज प्रात: कोई ना कोई भक्ति संगीत अवश्य बजाएं। इससे घर के माहौल में पॉजिटिविटी आती है।

2. यहां पर दीवारों पर रंगों का चयन हल्का ही रखें और पर्दे का रंग भी दीवारों के रंग से मेल खाता ही पसंद करें।

3. यदि सजावट के लिए कोई शो पीस या कोई पोस्टर लगाना चाहते हैं तो यह ध्यान दें कि उसमें किसी भी तरह की हिंसा ना हो या कोई ऐसा सन्देश ना हो, जिसमें किसी भी तरह का दु:ख, अपराध भाव या युद्ध दर्शाने वाली बात लिखी हो। ऐसा होने से नकारात्मक ऊर्जा धीरे धीरे स्थान बनाने लगती है, फिर यहां पर बैठने से या किसी भी तरह की बैठक करने से उसका नतीजा अच्छा नहीं निकालता है।

4. ड्राइंग रूम में उत्तर पूर्व दिशा की तरफ काला क्रिस्टल और दक्षिण पश्चिम में गुलाबी क्वाट्र्ज रखने से घर का और ड्राइंग रूम का माहौल खुशनुमा बनाता है।

5. ड्राइंग रूम की शोभा बढ़ाने के लिए पूर्व की तरफ मछलियां रख सकते हैं। पूर्व, दक्षिण की तरफ यहां फ्रेश फ्लावर्स भी रखना आप के मूड को बेहतर बनाने में सहायक होंगे। फ्लावर्स को फ्लावर बेस में रखें तो इसके और बेहतर परिणाम सामने आते हैं।

6. बड़े फर्नीचर को दक्षिण पश्चिम में ही स्थान दें, तो इसका सकारात्मक असर दिखेगा। परिवार के सदस्यों की ग्रुप फोटो भी यहां फ्रेमिंग करा कर कमरे पश्चिम कोने में लगा सकते हैं। इससे परिवार के बीच आपसी संबंध मधुर रहते हैं और एक-दूसरे के लिए प्यार बढ़ता है।

7. ड्राइंग रूम में यदि डाइनिंग टेबल रखनी है तो यहां रख सकते हैं, लेकिन ध्यान रखें कि यह दीवार से सटी हुई न हो। यह भी जरूर ध्यान दें कि डाइनिंग टेबल पर जब भी परिवार के सदस्य बैठें तो उनका मुख दक्षिण दिशा की तरफ ना हो। हां, गृह स्वामी जब भी यहां बैठे तो उनका बैठना दक्षिण में हो और मुख उत्तर दिशा की तरफ हो तो अच्छा है। डाइनिंग टेबल चौकोर हो तो इसके अच्छे परिणाम मिलते हैं।

नमस्कार मित्रों आज हम वास्तु वाइब्स द्वारा घर को सजाते हैं। संवारते हैं घर का मुख्य अंग हमारा ड्राइंग रूम। यहां कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। अगर हम इस कमरे में वास्तु वाइब्स का ध्यान दें, तो न केवल इस कमरे की सजावट से खुद को अच्छा महसूस होगा, बल्कि जो अतिथि भी हमारे यहां आएंगे, वह भी खुश और संतुष्ट हो कर जाएंगे।

1. ड्राइंग रूम में सोफासेट दक्षिण पश्चिम की तरफ रखें। टेलीविजन पश्चिम में लगाएं। म्यूजिक सिस्टम उत्तर दिशा की तरफ रखें और रोज प्रात: कोई ना कोई भक्ति संगीत अवश्य बजाएं। इससे घर के माहौल में पॉजिटिविटी आती है।

2. यहां पर दीवारों पर रंगों का चयन हल्का ही रखें और पर्दे का रंग भी दीवारों के रंग से मेल खाता ही पसंद करें।

3. यदि सजावट के लिए कोई शो पीस या कोई पोस्टर लगाना चाहते हैं तो यह ध्यान दें कि उसमें किसी भी तरह की हिंसा ना हो या कोई ऐसा सन्देश ना हो, जिसमें किसी भी तरह का दु:ख, अपराध भाव या युद्ध दर्शाने वाली बात लिखी हो। ऐसा होने से नकारात्मक ऊर्जा धीरे धीरे स्थान बनाने लगती है, फिर यहां पर बैठने से या किसी भी तरह की बैठक करने से उसका नतीजा अच्छा नहीं निकालता है।

4. ड्राइंग रूम में उत्तर पूर्व दिशा की तरफ काला क्रिस्टल और दक्षिण पश्चिम में गुलाबी क्वाट्र्ज रखने से घर का और ड्राइंग रूम का माहौल खुशनुमा बनाता है।

5. ड्राइंग रूम की शोभा बढ़ाने के लिए पूर्व की तरफ मछलियां रख सकते हैं। पूर्व, दक्षिण की तरफ यहां फ्रेश फ्लावर्स भी रखना आप के मूड को बेहतर बनाने में सहायक होंगे। फ्लावर्स को फ्लावर बेस में रखें तो इसके और बेहतर परिणाम सामने आते हैं।

6. बड़े फर्नीचर को दक्षिण पश्चिम में ही स्थान दें, तो इसका सकारात्मक असर दिखेगा। परिवार के सदस्यों की ग्रुप फोटो भी यहां फ्रेमिंग करा कर कमरे पश्चिम कोने में लगा सकते हैं। इससे परिवार के बीच आपसी संबंध मधुर रहते हैं और एक-दूसरे के लिए प्यार बढ़ता है।

7. ड्राइंग रूम में यदि डाइनिंग टेबल रखनी है तो यहां रख सकते हैं, लेकिन ध्यान रखें कि यह दीवार से सटी हुई न हो। यह भी जरूर ध्यान दें कि डाइनिंग टेबल पर जब भी परिवार के सदस्य बैठें तो उनका मुख दक्षिण दिशा की तरफ ना हो। हां, गृह स्वामी जब भी यहां बैठे तो उनका बैठना दक्षिण में हो और मुख उत्तर दिशा की तरफ हो तो अच्छा है। डाइनिंग टेबल चौकोर हो तो इसके अच्छे परिणाम मिलते हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.