माघ मेला तैयारियों पर दलदल ने लगाया ग्रहण

2019-11-19T13:30:15Z

-20 दिसम्बर तक तैयारियों को पूरा करने का था निर्देश

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: कुंभ मेले के भव्य और दिव्य आयोजन के बाद से ही माघ मेले में भी भव्यता देने को लेकर तैयारियां और प्लानिंग शुरू हो गई थीं। शासन की तरफ से भी माघ मेला 2020 की तैयारियों को 20 दिसम्बर तक पूरा करने का निर्देश भी जारी किया गया था। लेकिन तैयारियों में सबसे बड़ा ग्रहण बना मेला एरिया के विभिन्न स्थानों में तैयार हुआ दलदल। बाढ़ के कारण तैयार हुआ दलदल माघ मेले की तैयारियों को समय से पूरा करने में रोड़े अटका रहा है।

बाढ़ से देरी,अब दलदल से मुसीबत

बाढ़ के कारण इस साल वैसे भी मेले का कार्य काफी देरी से शुरू हुआ। प्रयागराज मेला प्राधिकरण ने 2018 की तरह ही इस बार भी माघमेला बसाने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्राधिकरण को शासन की ओर से 57 करोड़ रुपये की भी धनराशि मिल चुकी है। कई विभाग इस पर सक्रिय भी नजर आये। मेला प्रशासन की ओर से समतलीकरण का कार्य सेक्टर एक और दो में करा दिया गया है। लेकिन दूसरे सेक्टरों में दलदल होने के कारण समतलीकरण का कार्य नहीं हो पा रहा है। अलबत्ता लोक निर्माण विभाग की ओर से सड़क और पांटून पुल का निर्माण कार्य शुरू करा दिया गया है। माघ मेले में गंगा पर इस साल पांच पांटून पुल बनाए जाने है। इसके लिए विभाग को लगभग 12 करोड़ रुपये की धनराशि मंजूर हुई है। इसी तरह विद्युत विभाग, जल निगम, सिंचाई विभाग की ओर से भी काम शुरू करा दिया गया है।

सड़क, बिजली व जल निगम का पहले पूरा होना है वर्क

सड़क, बिजली और जल निगम का काम पहले पूरा होना है। इसके बाद ही दूसरे विभागों की तरफ से माघ मेला की तैयारियों को लेकर कार्य शुरू हो सकेगा। फिलहाल जिस गति से माघ मेले का कार्य चल रहा है, उससे निर्धारित समय सीमा 20 दिसंबर तक तैयारी पूरी हो पाना बेहद मुश्किल है। मेलाधिकारी रजनीश कुमार मिश्र का कहना है कि सभी विभागों के अफसरों को कड़े निर्देश दिए गए हैं कि मैन पॉवर बढ़ाकर रात-दिन काम कराएं, जिससे समय पर काम पूरा किया जा सके।

पार्किग स्थलों को चिन्हित कर तैयार होगा यातायात प्लान

माघमेला 2020 के मुख्य स्नान पर्वो के दौरान श्रद्धालुओं को स्नान कराकर सकुशल घर वापसी कराने के लिए तैयारी करने को कहा गया है। प्राधिकरण ने पुलिस अफसरों से कहा है कि वाहन पॉर्किंग स्थलों को चिन्हित कर यातायात प्लान भी तैयार कराया जाए। शहर के साथ ही शहर के बाहर भी हैलीपैड बनाए जाऐं। इसके साथ ही शटल बसों की व्यवस्था भी की जाएगी।

सुविधाएं देने की प्लानिंग करने का निर्देश

संगम क्षेत्र को साफ-सुथरा रखने के लिए नगर निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश शासन की ओर से दिए गए हैं। संगम क्षेत्र में शौचालय, पानी, विद्युत, मोबाइल टॉयलेट आदि सुविधाएं देने की प्लानिंग की जा रही है। सड़कों पर अतिक्रमण के खिलाफ सघन अभियान चलाने के निर्देश भी दिए गए हैं। सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे व्यवस्थित रखने के निर्देश भी सभी अधिकारियों को दिए गए है।

इन तिथियों पर हैं होंगे स्नान पर्व

10 जनवरी -पौष पूर्णिमा

15 जनवरी -मकर संक्रांति

24 जनवरी -मौनी अमावस्या

30 जनवरी -वसंत पंचमी

09 फरवरी - माघी पूर्णिमा

21 फरवरी - महाशिवरात्रि

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.