बेन स्टोक्स ने जिस टीम को हराया वहीं के लोग करना चाहते हैं इस क्रिकेटर को सम्मानित

2019-07-19T15:12:26Z

आईसीसी वर्ल्डकप 2019 में न्यूजीलैंड को फाइनल में हराकर हीरो बने इंग्लिश क्रिकेटर बेन स्टोक्स को कीवी देश में बड़ा सम्मान मिलने जा रहा है। स्टोक्स को न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर के लिए नाॅमिनेट किया गया है।

क्राइस्टचर्च (पीटीआई)। आईसीसी क्रिकेट वर्ल्डकप 2019 के फाइनल में इंग्लैंड की जीत में मुख्य भूमिका निभाने वाले बेन स्टोक्स को न्यूजीलैंड में सम्मानित किया जाएगा। इंग्लिश क्रिकेटर स्टोक्स ने अपनी बल्लेबाजी से करोड़ों कीवी फैंस का दिल तोड़ दिया था मगर उनके न्यूजीलैंड कनेक्शन को देखते हुए इस खिलाड़ी को देश के प्रतिष्ठित सम्मान 'न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर' के लिए नाॅमिनेट किया गया है। बता दें 2019 वर्ल्डकप में इंग्लैंड की जीत में स्टोक्स ने अहम रोल निभाया था। खिताबी मुकाबले में स्टोक्स ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 84 रन बनाकर 50-50 ओवर मैच टाई कराया था। जिसके बाद सुपर ओवर भी टाई रहा। बाद में इंग्लैंड को बाउंड्री ज्यादा होने के चलते विजेता घोषित कर दिया गया। इस जीत के बाद बेन स्टोक्स इंग्लैंड में हीरो बन गए। अब तो न्यूजीलैंड में भी स्टोक्स की वाहवाही हो रही।

न्यूजीलैंड में पैदा हुए थे बेन स्टोक्स
न्यूजीलैंड में बेन स्टोक्स को जिस न्यूजीलैंडर ऑफ द ईयर अवाॅर्ड के लिए नाॅमिनेट किया गया है। उसके चीफ जज कैमरन बेनेट का कहना है, न्यूजीलैंड में कुछ लोग ऐसे हैं जो स्टोक्स को अपना मानते हैं क्योंकि इस इंग्लिश खिलाड़ी का जन्म क्राइस्टचर्च में हुआ है। बेनेट आगे कहते हैं, 'स्टोक्स ने न्यूजीलैंड के लिए कभी भी क्रिकेट न खेला हो मगर उनका जन्म यहां हुआ और उनके पेरेंट्स भी यहीं रहते हैं। इसके अलावा स्टोक्स न्यूजीलैंड के मशहूर माओरी समुदाय से जुड़ाव रखते हैं जिसके चलते यहां के लोग स्टोक्स को कीवी होने का दावा करते हैं।' बेन स्टोक्स के अलावा न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के कप्तान केन विलियमसन भी कई कैटेगरी में नाॅमिनेट किए गए हैं।

भारतीय टीम से दिग्गजों की हो सकती है छुट्टी, युवा खिलाड़ियों पर रहेगी नजर

इंग्लैंड बना था वर्ल्ड चैंपियन
वर्ल्डकप 2019 का फाइनल मुकाबला 14 जुलाई को इंग्लैंड बनाम न्यूजीलैंड के बीच खेला गया था। इस मैच में कीवी कप्तान केन विलियमसन ने पहले खेलते हुए निर्धारित ओवर में 241 रन बनाए। जवाब में इंग्लिश टीम ने भी इतने रन बनाकर मैच टाई कराया। इसके बाद जीत-हार का फैसला सुपर ओवर के जरिए किया गया, जिसमें दोनों टीमों ने फिर से बराबर 15-15 रन बनाए। अंत में इंग्लैंड को बाउंड्री ज्यादा लगाने के चलते विजेता घोषित कर दिया गया। बराबर रन बनाने के बावजूद विश्व चैंपियन न बन पाने से कई कीवी खिलाड़ी मायूस दिखे। मार्टिन गप्टिल तो मैदान पर ही रोने लगे हालांकि टीम के कप्तान केन विलियमसन के चेहरे पर कहीं भी हताशा और निराशा नहीं दिखी। विलियमसन पूरे समय चेहरे पर मुस्कान लिए नजर आए। केन का यह रूप देखकर सोशल मीडिया का दिल पिघल गया और ज्यादातर यूजर्स ने विलियमसन को सैल्यूट किया।



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.