वेबसाइट पर जाएं और बोर्डिग चेंज कराएं

2020-02-13T05:46:02Z

- हर माह पीआरएस पहुंचते हैं 12-15 केस

- आईआरसीटीसी ने ई-टिकट के साथ ही काउंटर टिकट कैंसिलेशन की भी दे रखी है सुविधा

- 139 पर कॉल कर भी चेंज कराया जा सकता है बोर्डिग प्वॉइंट

GORAKHPUR: रेलवे पैसेंजर्स के लिए बोर्डिग स्टेशन चेंज कराना अब सिरदर्द नहीं है। खासतौर पर रेग्युलर जर्नी करने वाले पैसेंजर्स दौड़ते-भागते कहीं पर भी रहें, लेकिन उनकी ट्रेन मिस नहीं होने पाएगी। आईआरसीटीसी लोगों के लिए घर बैठे बोर्डिग स्टेशन चेंज करने का तोहफा दे चुकी है, हालांकि इसको अवेल करने वालों की तादाद अब भी काफी कम है, जिसे बढ़ाने के लिए वह सोशल मीडिया पर इसके प्रमोशन में लगे हुए हैं। गोरखपुर जंक्शन की बात करें तो बोर्डिग चेंज के लिए हर माह करीब 10 से 12 केस पीआरएस पहुंच रहे हैं और अपना बोर्डिग प्वॉइंट चेंज करा रहे हैं।

लगानी पड़ती थी लंबी लाइन

बता दें, बुकिंग कराने के बाद बोर्डिग चेंज कराना अपने आप में एक टफ टास्क होता है। इसके लिए नजदीकी रेलवे स्टेशन तक जाना पड़ता था। वहां तमाम फॉर्मेलिटीज से गुजरने के बाद रिजर्वेशन सुपरवाइजर की परमिशन लेनी पड़ती थी। इसके बाद बहुत देर तक लाइन में लगने के बाद ही बोर्डिग चेंज हो पाती है। इससे लोगों का काफी टाइम भी वेस्ट होता है। कई बार नजदीक में कोई स्टेशन न होने पर पैसेंजर्स को अपनी जर्नी तक पोस्टपोन करनी पड़ती है। पैसेंजर्स को होने वाली इन मुश्किलों को ध्यान में रखते हुए रेलवे बोर्ड ने बोर्डिग को लेकर मई 2019 में रूल्स को चेंज किया है।

एक मई से मिलेगी सुविधा

पैसेंजर्स को अब तक ट्रेन छूटने के 24 घंटे पहले तक ही बोर्डिग चेंज करने की सुविधा थी। इसकी वजह से कई बार ऐसा होता था कि वह तय वक्त पर अपने बोर्डिग प्वॉइंट तक नहीं पहुंच पाते, जिसकी वजह से या तो उनकी ट्रेन छूट जाती या फिर सीट दूसरे को अलॉट कर दी जाती। नई व्यवस्था के तहत रेलवे बोर्ड ने पैसेंजर्स को सहूलियत देते हुए टिकट सिस्टम में बड़ा बदलाव किया है। एक मई से ऑल इंडिया लेवल पर यह व्यवस्था लागू हो जाएगी।

पैसे नहीं मिलेंगे वापस

रेलवे के रूल्स से जहां पैसेंजर्स को राहत मिलेगी, वहीं रेलवे को भी इसका काफी फायदा होगा। बोर्डिग चेंज करने पर पैसेंजर्स को कोई एक्स्ट्रा किराया तो नहीं देना है, लेकिन उसे कोई रिफंड भी नहीं मिलेगा। यही नहीं अगर किसी पैसेंजर ने गोरखपुर से दिल्ली तक का रिजर्व टिकट बुक किया है और बाद में उसने बोर्डिग लखनऊ करा लिया तो गोरखपुर से लखनऊ के बीच का किराया भी वापस नहीं होगा। हां, अगर यात्री चाहे तो बोर्डिग चेंज करने के बाद भी लखनऊ के बजाय गोरखपुर से यात्रा कर सकता है, लेकिन बर्थ खाली होने पर ही पैसेंजर्स को यह सुविधा मिलेगी।

कॉल कर चेंज कराएं बोर्डिग

रेलवे का सफर करने वाले पैसेंजर्स को यह फैसिलिटी एक मई 2019 से मिल रही है। इसमें पैसेंजर्स के पास यह भी सुविधा है कि वह अपना बोर्डिग प्वॉइंट घर बैठे ही एक कॉल पर चेंज करा सकते हैं। रेलवे काउंटर पर यह सुविधा पहले से मौजूद है, वहीं आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर भी लोग इस फैसिलिटी को अवेल कर रहे हैं, लेकिन फिलहाल उन्हें 24 घंटे पहले बोर्डिग प्वॉइंट चेंज कराने की फैसिलिटी मिल रही है। इसके साथ ही रेलवे इंक्वायरी नंबर 139 पर भी बोर्डिग बदलने की सुविधा उपलब्ध है। इसके लिए सेंटर फॉर रेलवे इंफॉर्मेशन सिस्टम (क्रिस) ने टिकट सिस्टम को अपडेट कर दिया है।

ऐसे चेंज कर सकेंगे बोर्डिग स्टेशन

काउंटर टिकट की कंडीशन में

-सबसे पहले आईआरसीटीसी डॉट को डॉट इन की साइट पर विजिट करना होगा।

- अगर काउंटर टिकट है तो अपने अकाउंट यूजर नेम और पॉसवर्ड के साथ लॉग इन करना होगा।

- अकाउंट में जाने के बाद सब मेन्यू सेलेक्ट करते हुए माय ट्रांजैक्शन, बुक्ड टिकट हिस्ट्री पर क्लिक करना होगा।

- टिकट हिस्ट्री पर जाकर पीएनआर नंबर एंटर करने के बाद बोर्डिग प्वॉइंट चेंज करने के लिए प्रोसीड कर सकते हैं।

- सेलेक्टेड रेल रूट के बीच स्टेशनों की सूची के साथ एक पॉप अप विंडो दिखाई देगा।

- यहां आप अपनी सुविधा अनुसार स्टेशंस सेलेक्ट कर सकते हैं।

अगर काउंटर टिकट नहीं है तो इस कंडीशन में

- आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर जाएं।

- कॉर्नर में मोर ऑप्शन पर क्लिक करें।

- काउंटर टिकट बोर्डिग प्वॉइंट चेंज का ऑप्शन नजर आएगा।

- इस पर क्लिक करते ही नई विंडो ओपन हो जाएगी।

- यहां ट्रांजेक्शन टाइप में बोर्डिग प्वॉइंट चेंज ऑप्शन सेलेक्ट करना है।

- इसके बाद पीएनआर नंबर और ट्रेन नंबर डालना है।

- आखिर में कैपचा इंटर करने के बाद चेक बॉक्स में क्लिक करें और सब्मिट करें।

- इसके बाद बोर्डिग प्वॉइंट का ऑप्शन सेलेक्ट कर आगे के लिए प्रोसीड करें।

इसका भी रखें ख्याल

- किसी टिकट पर बोर्डिग स्टेशन केवल एक बार ही चेंज कराया जा सकता है।

- टिकट जब्त होने पर बोर्डिग प्वॉइंट में बदलाव नहीं किया जा सकेगा।

- पैसेंजर्स को पीएनआर के लिए विकल्प के साथ बोर्डिग प्वॉइंट बदलने की अनुमति नहीं होगी।

- आई-टिकट के लिए ऑनलाइन बोर्डिग प्वॉइंट में बदलाव की अनुमति नहीं है।

- करंट बुकिंग टिकट के लिए बोर्डिग प्वॉइंट चेंज करने का ऑप्शन नहीं है।

- ट्रेन के निर्धारित प्रस्थान से चार घंटे पहले तक बोर्डिग स्टेशन को बदला जा सकता है।

वर्जन

मई 2019 से ही बोर्डिग प्वॉइंट चेंज करने की सुविधा उपलब्ध है। लोगों में अवेयरनेस बढ़ाने के लिए इसे सोशल मीडिया पर प्रमोट किया जा रहा है, जिससे कि पैसेंजर्स को दौड़ न लगानी पड़े और घर बैठे ही वह टिकट की बोर्डिग चेंज कर लें।

- अश्विनी कुमार श्रीवास्तव, चीफ रीजनल मैनेजर, आईआरसीटीसी

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.