Alert! IRCTC की ‘नकली’ वेबसाइट से हो रही चीटिंग, जानें बुकिंग के समय कैसे रखें ध्यान

2020-01-31T13:40:31Z

अगर आप भी अक्सर आईआरसीटीसी की वेबसाइट से टिकट व टूर बुकिंग करते हैं तो थोड़ा अलर्ट रहने की जरूरत है। कारण इस दौरान कुछ लोग आईआरसीटीसी की फर्जी वेबसाइट तैयार कर पैसेंजर्स के साथ फ्रॉड कर रहे हैं। इसकी जानकारी तब हुई जब आईआरसीटीसी के सीनियर्स आफिसर्स के पास दो पैसेंजर्स की शिकायत गई। जिसके बाद उन्होंने तत्काल एक्शन लेते हुए अपनी वेबसाइट के जरिए पैसेंजर्स को अवेयर करने के साथ अलर्ट भी कर रहे हैं।

कानपुर (ब्यूरो)। आईआरसीटीसी सीआरएम अश्विनी श्रीवास्तव ने बताया कि दो पैसेंजर्स की शिकायत आने के बाद मामले की जानकारी हुई थी। कुछ लोगों ने आईआरसीटीसी से मिलती जुलती वेबसाइट www.irctctour.com बनाई है। टिकट बुकिंग के दौरान पैसेंजर्स की थोड़ी सी गलती से वह चीटिंग के शिकार हो जाते हैं। उन्होंने बताया कि आईआरसीटीसी की ओरिजनल वेबसाइट www.irctctourism.com है। पैसेंजर्स टिकट बुकिंग के दौरान गूगल में आईआरसीटीसी की वेबसाइट खोलते समय अच्छी तरह चेक करने के बाद ही टिकट व टूर की बुकिंग करें। आईआरसीटीसी आफिसर्स के मुताबिक आईआरसीटीसी से मिलती जुलती वेबसाइट बनाकर पैसेंजर्स से फ्रॉड करने वालों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है।
वाउचर मिलने से होती कंफ्यूजन
आईआरसीटीसी आफिसर्स के मुताबिक सबसे हैरानी की बात तो यह है कि फ्रॉड वेबसाइट का वाउचर भी ओरिजनल वेबसाइट के वाउचर से मिलता है। जिसकी वजह से पैसेंजर्स टूर बुकिंग के दौरान गलती कर बैठते हैं। पैसेंजर्स टूर पैकेज, होटल व क्रुज बुकिंग के दौरान वेबसाइट की अच्छी तरह जांच करने के बाद ही ऑनलाइन पेमेंट करे।
शक होने पर इस नंबर से करे कंफर्म
आईआरसीटीसी सीआरएम अश्विनी श्रीवास्तव ने बताया कि आईआरसीटीसी की फर्जी वेबसाइट के माध्यम से पैसेंजर्स चीटिंग का शिकार न हो। इसके लिए पैसेंजर्स टूर पैकेज व टिकट बुकिंग के दौरान वेबसाइट के प्रति कोई संदेह होने पर कानपुर हेल्प लाइन नंबर 8287930930 व लखनऊ आईआरसीटीसी हेल्प लाइन नंबर 8287930908 पर कॉल कर अपना संदेह दूर कर सकता है।
'रेल पैसेंजर्स इस फ्रॉड कंपनी का शिकार न बने, इसके लिए उनको आईआरसीटीसी की वेबसाइट के माध्यम से अवेयर किया जा रहा है। साथ ही आईआरसीटीसी ने दो हेल्प लाइन नंबर भी जारी किए है।'
- अश्विनी श्रीवास्तव, सीआरएम, आईआरसीटीसी
kanpur@inext.co.in

Posted By: Satyendra Kumar Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.