समय से काम का दावा हवाहवाई मंत्री जी का पारा हाई

2019-01-20T06:00:15Z

- विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह ने बड़ा लालपुर में कार्यक्रम स्थल का किया इंस्पेक्शन, अधूरा काम देख हुए नाराज

- कार्यदायी एजेंसी को हड़काया, 20 जनवरी तक कार्य पूरा नहीं होने पर पेमेंट रोकने की दी चेतावनी

VARANASI

ऐढ़े गांव में प्रवासी भारतीय दिवस के लिए टेंट सिटी तो तैयार है, लेकिन कार्यक्रम स्थल बड़ालालपुर अब भी चुनौती बना है। जिसे देखने के लिए शनिवार को विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह वाराणसी पहुंचे। सम्मेलन स्थल के कार्य अधूरे देख वह काफी नाराज हो गए। उन्होंने कार्यदायी कंपनी को सख्त हिदायत दी कि 20 जनवरी की रात तक कार्य पूरा करा लें वरना खैर नहीं होगी।

सेक्रेटरी को बनारस रुकने का निर्देश

राज्यमंत्री वीके सिंह 17 जनवरी को ऐढ़े गांव पहुंचे थे। निरीक्षण के बाद 19 जनवरी तक टेंट सिटी और बड़ा लालपुर को हैंडओवर करने के लिए कहा था पर अब भी वहां काम जारी है। राज्यमंत्री ने कार्यदायी कंपनी को साफ कहा कि 20 जनवरी की रात तक मौका दे रहा हूं। 21 जनवरी की सुबह सम्मेलन स्थल को हैंडओवर कर दिया जाए। ऐसा नहीं हुआ तो कोई बहाना नहीं चलेगा। वीके सिंह ने कार्य पूरा कराने के लिए विदेश मंत्रालय के सचिव को बनारस में रुकने का आदेश दिया। कहा कि किसी भी तरह सम्मेलन स्थल का कार्य समय पर पूरा होना चाहिए। कोई कसर रहती है तो संबंधित कंपनी का पेमेंट रोक दिया जाएगा।

अधूरे कामों को गिनाया

निरीक्षण के दौरान वीके सिंह ने अधूरे कामों को एक-एक कर गिनाया। उन्होंने टेंट सिटी का भी निरीक्षण किया। उस दौरान कई जरूरी निर्देश दिए। प्रवासी समेत स्थानीय मेहमानों के लिए फूड कोर्ट नहीं बने हैं। मंच का काम पूरा हुआ है, लेकिन अभी कुर्सियों का अरेजमेंट नहीं हुआ है। वन डिस्ट्रिक-वन प्रोडक्ट के लिए हॉकी स्टेडियम में भी काम चल रहा है जबकि वहां 21 जनवरी की सुबह से ही कार्यक्रम होना है। सीएम योगी आदित्यनाथ जिसका उद्घाटन करेंगे।

30 ई-रिक्शा से घूमेंगे टेंट सिटी

43 एकड़ में बसी टेंट सिटी में प्रवासियों को भ्रमण करने के लिए 30 ई-रिक्शा का इंतजाम किया गया है। गेट के पास उनको खड़ा किया गया है। समीप ही हेल्प डेस्क भी है जहां यू आर हियर स्लोगन लिखा है। यहां से प्रवासी दिवस सम्मेलन समेत काशी भ्रमण की सभी जानकारियां प्राप्त की जा सकती हैं।

171 कैमरे से निगरानी

ऐढ़े स्थित टेंट सिटी में 171 सीसीटीवी कैमरे लगा दिये गये हैं। कंट्रोल रूम के जरिए पूरे परिसर की निगरानी भी शुरू कर दी गई है। हर क्लस्टर में 360 डिग्री वाले हाई रिजोल्यूशन के 50 कैमरों के साथ ही छोटे कैमरे भी लगाये गये हैं। इन कैमरों को कंट्रोल रूम से जोड़ दिया गया। टेंट निर्माण एजेंसी के अलावा पुलिस विभाग का कंट्रोल रूम अस्थायी थाने में बनाया गया है। सभी जगह लगाये गये कैमरों को दोनों कंट्रोल रूम से जोड़ा गया है। प्रवेश द्वार से लेकर टेंट सिटी के किनारे तक निगहबानी तेज कर दी गई है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.