Corona in Kanpur: कानपुर में कोरोना से पहली मौत के बाद निजी अस्‍पताल सील, स्टाफ आइसोलेशन में, पहले यहीं हुआ था इलाज

Updated Date: Tue, 14 Apr 2020 10:40 PM (IST)

Corona in Kanpur Latest Update: कानपुर में कोरोना से जो पहली मौत हुई है उस मरीज को एक प्राइवेट हॉस्पिटल से कोरोना वार्ड लाया गया था। मौत के बाद एसजीपीजीआई से आई रिपोर्ट में कोरोना वायरस इंफेक्शन की पुष्टि। इसके बाद संबंधित निजी अस्‍पताल को सील करा दिया गया है और स्टाफ को आइसोलेशन में भेज दिया गया है।

kanpur@inext.co.in

KANPUR: Corona in Kanpur Latest Update: मेडिकल कालेज के न्यूरो साइंस सेंटर में बने कोविड-19 आईसीयू में एक दिन पहले मरने वाले कर्नलगंज के एक शख्स में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई. कानपुर में कोरोना वायरस से मौत का यह पहला मामला है। कर्नलगंज के हॉटस्पाट एरिया की एक मस्जिद के मुतवल्ली के भाई को तीन दिन पहले एक प्राइवेट हॉस्पिटल से कोविड-19 आईसीयू में भर्ती किया था। मंडे को रिपोर्ट आने से पहले ही उसकी मौत हो गई. उसकी डेडबॉडी को प्रोटोकॉल के मुताबिक बकरमंडी के कब्रिस्तान में दफनाया गया। डीएम और विधायक इरफान सोलंकी भी इस दौरान मौजूद रहे। वहीं टयूजडे सुबह एसजीपीजीआई से आई रिपोर्ट में वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने के बाद हड़कंप मच गया।

कई दिनों से चल रहा था इलाज

कर्नलगंज के टिकुनिया पार्क के पास रहने वाले 50 साल के शख्स लॉकडाउन के दौरान ही मुंबई से लौटे थे। इससे पहले वह दिल्ली भी गए थे। कानपुर लौटने पर तबीयत बिगड़ी तो पहले एक डॉक्टर को दिखाया। उनकी ही सलाह पर चुन्नीगंज स्थित अपोलो हॉस्पिटल में भर्ती हुए. हैलट में भर्ती होने के दौरान डॉक्टर्स से बातचीत में परिजनों ने बताया कि यहां पर तीन दिन तक उनका इलाज चला इस दौरान उन्हें आईसीयू में भी रखा गया। वायरस के संक्रमण का शक होने पर उन्हें फ्राईडे को एडीएम सिटी की मदद के बाद सीधे हैलट के कोविड-19 आईसीयू में शिफ्ट किया। सैटरडे को उनकी जांच के लिए सैंपल लेकर एसजीपीजीआई भेजा गया, लेकिन रिपोर्ट आने से पहले ही मंडे शाम को उनकी मौत हो गई. कोरोना सस्पेक्टेड केस मानते हुए. उनकी बॉडी को सेनेटाइज और सील करते हुए मेडिकल टीम शव को कब्रिस्तान ले गई. इस दौरान घर के दो लोग व विधायक इरफान सोलंकी भी कब्रिस्तान पहुंचे। शव को दफनाने से वायरस इंफेक्शन न फैले इसके लिए डीएम ने ज्यादा गहरे गड्ढे में शव को दफनाने के लिए इंतजाम कराए.

अपोलो स्पेक्ट्रा हॉस्पिटल सील, स्टाफ आइसोलेशन में

कर्नलगंज में कोरोना पॉजिटिव की मौत के बाद चुन्नीगंज स्थित अपोलो स्पेक्ट्रा हॉस्पिटल को सील करा दिया गया। कोरोना पाजिटिव आए शख्स को इसी हॉस्पिटल से हैलट के कोविड-19 आईसीयू में भेजा गया था। रिपोर्ट आने के बाद ट्यूजडे सुबह ही पुलिस प्रशासन और हेल्थ डिपार्टमेंट की टीमें हॉस्पिटल पहुंच गई. इस दौरान कोरोना पाजिटिव शख्स का किन लोगों से कांटेक्ट हुआ इसकी जानकारी हासिल की गई.

आसपास का एरिया भी सेनेटाइज किया

कर्नलगंज थाना प्रभारी ने बताया कि हॉस्पिटल के डॉक्टर्स और पैरामेडिकल स्टाफ के 16 लोगों को आइसोलेट किया है। साथ ही पूरे हॉस्पिटल और उसके आसपास के एरिया को भी सेनेटाइज किया गया है। सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला का कहना है कि हॉस्पिटल में पेशेंट की कॉन्‍टेक्ट हिस्ट्री का पता लगाया गया है। जिस डॉक्टर ने इनका इलाज किया उन्हें भी आईसोलेट किया है। साथ ही अगर पेशेंट के इलाज को लेकर अगर कोई तथ्य छिपाया जाता है तो फिर हॉस्पिटल के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

कॉटेक्ट चेन की हो रही पहचान

डीआईजी अनंत देव ने बताया कि कोरोना पाजिटिव आए जिस शख्स की मौत हुई है। कानपुर में उसके स्टे, विजिट और कांटेक्ट की पूरी हिस्ट्री का पता लगाया जा रहा है। 100 के करीब लोगों को चिन्हित किया गया है। जिनके चेकअप के साथ उनकी जांच भी कराई जाएगी। उन्होंने यह भी बताया कि अब सभी 13 एपीसेंटर और रेड जोन एरिया में सख्ती को बढ़ाते हुए यह इंतजाम होगा कि कोई न बाहर निकले और न ही कोई इस एरिया के अंदर जा सके।

Posted By: Chandramohan Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.