जापान में होगा नए राजा का राज्याभिषेक प्रिंस चार्ल्स और कोरियाई पीएम समेत कई देशों के राष्ट्राध्यक्ष होंगे शामिल

2019-10-18T18:11:23Z

जापान के सम्राट नारुहितो का अगले राज्याभिषेक होना है। इस मौके पर दुनिया भर के सैकड़ों प्रतिष्ठित मेहमान कार्यक्रम में शामिल होंगे।

टोक्यो (रॉयटर्स)। जापान के सम्राट नारुहितो का अगले हफ्ते राज्याभिषेक होना है। इस मौके पर एक भव्य कार्यक्रम आयोजित किया गया है, जिसमें जापान के प्रधानमंत्री और 117 से अधिक देशों के गणमान्य व्यक्तियों को मिलाकर करीब 2,000 शामिल होंगे। 22 अक्टूबर को इस अवसर पर ढेरों कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। राज्याभिषेक का समारोह इम्पीरियल पैलेस (राज महल) में स्थानीय समय के अनुसार दोपहर 1 बजे से शुरू होगा।
पीएम के संबोधन के बाद होगा राज्याभिषेक

इस मौके पर सम्राट नारुहितो पारंपरिक रोबे और हैडरेस पहनेंगे। सम्राट के सम्मान में इस दौरान ढेर सारे जेवर और पुराने तलवार प्रस्तुत किए जाएंगे। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री शिंजो आबे के अभिनंदन संबोधन के बाद सम्राट नारुहितो का राज्याभिषेक शुरू किया जाएगा। लगभग 16.1 बिलियन येन (148 मिलियन डॉलर) पूरे साल में उत्तराधिकार से संबंधित समारोहों के लिए रखे गए हैं, जिसमें राज्याभिषेक भी शामिल है।
गेस्ट में यह लोग होंगे शामिल
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस समारोह में ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स, अमेरिकी परिवहन मंत्री एलेन चाओ, चीनी उपराष्ट्रपति वांग किशन और दक्षिण कोरिया के प्रधानमंत्री ली नाक-योन मौजूद रहेंगे। इसके अलावा इसमें यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की, ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोल्सोनारो, म्यांमार के नेता व नोबेल पुरस्कार विजेता आंग सान सू की, सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान और तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तय्यिप एर्दोगन भी संभावित रूप से शामिल हो सकते हैं।
जापान में हेगिबिस तूफान मचाने वाला है तबाही, छह लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने का दिया गया निर्देश
कैदियों को किया जाएगा रिहा
वहीं, सम्राट नारुहितो के राज्याभिषेक समारोह के मौके पर जापान सरकार ने करीब 550,000 कैदियों को जेल से रिहा करना का फैसला किया है। माफ सिर्फ उन कैदियों को किया जाएगा, जो छोटे अपराधों में दोषी पाए गए हैं और जेल की सजा काट चुके हैं या जुर्माना भर चुके हैं। जापान में, जिन लोगों को दोषी ठहराया जाता है या जुर्माना लगाया जाता है, उन्हें पांच साल तक चिकित्सक या नर्स बनने के लिए लाइसेंस देने पर प्रतिबंध लगा दिया जाता है।


Posted By: Mukul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.