यूपी के इन इलाकों में थी हमले की तैयारी, डीजीपी ने 4 घंटे तक की जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों से पूछताछ

Updated Date: Mon, 25 Feb 2019 11:34 AM (IST)

देवबंद से दबोचे गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शाहनवाज तेली और आकिब अहमद मलिक प्रदेश को दहलाने की तैयारी में जुटे हुए थे।


lucknow@inext.co.inLUCKNOW: देवबंद से दबोचे गए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी शाहनवाज तेली और आकिब अहमद मलिक प्रदेश को दहलाने की तैयारी में जुटे हुए थे। इसके लिये वे कश्मीर से हथियारों की मूवमेंट का प्लान भी तैयार कर चुके थे। यह खुलासा हुआ है दोनों आतंकियों की पुलिस कस्टडी रिमांड के पहले दिन की पूछताछ में। डीजीपी ओपी सिंह ने इन दोनों ही आतंकियों से शनिवार को चार घंटे तक पूछताछ की। इनसे मिली जानकारी को उन्होंने डीजीपी जम्मू-कश्मीर दिलबाग सिंह से साझा भी किया। इसके अलावा भी आतंकियों ने पूछताछ में कई चौंकाने वाली जानकारियां दी हैं, जो सुरक्षा एजेंसियों की आंखें खोलने वाली हैं। कश्मीर से लाने वाले थे हथियार
एटीएस सूत्रों के मुताबिक, आतंकियों ने पूछताछ में बताया कि उन्हें जैश-ए-मोहम्मद के पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स ने यूपी को दहलाने का टास्क दिया था। इसके लिये प्रदेश के महानगरों में बड़े फिदायीन हमलों का प्लान था। इन हमलों को अंजाम देने के लिये वे पश्चिमी यूपी के युवकों को फिदायीन के रूप में संगठन में भर्ती करने की कोशिशों में जुटे हुए थे। इन युवकों को पाकिस्तान में तैयार प्रोपेगेंडा वीडियो व लिट्रेचर देकर बरगलाने की कोशिश की जा रही थी। साथ ही इन हमलों को अंजाम देने के लिये कश्मीर में बैठे जैश के मददगारों से हथियारों की सप्लाई पर भी बात फाइनल स्टेज पर थी। बताया गया कि दोनों ही आतंकी हथियारों की डिलीवरी लेने के लिये कश्मीर जाने वाले थे। बीबीएम व नकली वॉट्सएप से करते हैं संपर्क आतंकियों शाहनवाज तेली और आकिब अहमद मलिक ने पूछताछ में बताया है कि वे लोग सुरक्षा एजेंसियों की नजरों में आने से बचने के लिये फोन का कम से कम इस्तेमाल करते थे। पाकिस्तान में बैठे हैंडलर्स व कश्मीर में मौजूद जैश के आतंकियों से ब्लैक बेरी मैसेंजर व जीबी वाट्सएप के जरिए संपर्क किया जाता था। चौंकाने वाली बात यह है कि जीबी वॉट्सएप के जरिए दोनों आतंकी अपने हैंडलर्स व साथी आतंकियों के संपर्क में रहते थे, वह चैट मैसेंजर न तो गूगल प्ले स्टोर पर उपलब्ध है और न ही एप स्टोर पर। बताया गया कि इस नकली वाट्सएप का सर्वर पाकिस्तान में है और इसे ई-मेल के जरिए भेजे गए लिंक पर क्लिक कर ही डाउनलोड किया जा सकता है। सार्वजनिक न होने की वजह से सुरक्षा एजेंसियां इस मैसेंजर से अब तक अंजान थीं।  पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले गैंग से ताल्लुक


एटीएस सूत्रों के मुताबिक, दोनों आतंकियों ने पूछताछ में कुबूल किया है कि पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों पर हमला करने वाला फिदायीन आतंकी आकिब अहमद डार उनका करीबी था। बताया गया कि दोनों आतंकियों ने पुलवामा हमले के बारे में कई जानकारियां एटीएस को दी हैं, जिसके बारे में मिलिट्री इंटेलिजेंस, आईबी व कश्मीर पुलिस को अवगत करा दिया गया है। हो सकती हैं कई अरेस्टिंगआतंकियों शाहनवाज और आकिब ने एटीएस की सख्त पूछताछ में पश्चिमी यूपी व कश्मीर में मौजूद जैश-ए-मोहम्मद से ताल्लुक रखने वाले और मददगारों के बारे में जानकारियां दी हैं। जिन पर सुरक्षा एजेंसियों ने काम शुरू कर दिया है। उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही कश्मीर समेत देशभर में कई और संदिग्धों की अरेस्टिंग की जाएगी।

पुलवामा हमले के 5 दिन बाद सेना में भर्ती होने के लिए उमड़े देश भक्त कश्मीरी युवा

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.