रोड एक्सीडेंट में भाजपा कैंडिडेट भानु के भांजे समेत 5 की मौत

Updated Date: Mon, 02 Dec 2019 05:46 AM (IST)

-- गढ़वा में एनएच-75 पर परसवान गांव में ट्रक-स्कॉर्पियो में हुई सीधी टक्कर, मृतकों में दो बिहार के निवासी

- उत्तर प्रदेश के राब‌र्ट्सगंज जिले के नगवा प्रखंड के प्रमुख थे भानु के भांजे प्रशांत सिंह

गढ़वा : एनएच-75 पर रमना थाना क्षेत्र के परसवान बिजली सब स्टेशन के निकट रविवार के तड़के साढ़े चार बजे ट्रक और स्कॉर्पियो की भीषण टक्कर में पांच लोगों की मौत हो गई। मृतकों में भवनाथपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी भानु प्रताप शाही के भांजे व उत्तर प्रदेश के राब‌र्ट्सगंज जिले के नगवां प्रखंड के प्रमुख प्रशांत सिंह, वहीं के शक्तिनगर निवासी चेतन गिरि, भवनाथपुर थाना क्षेत्र के हरिहरपुर निवासी प्रशांत सिंह उर्फ ¨टकू तथा बिहार के रोहतास जिले के तिलौथू निवासी उमा सिंह व औरंगाबाद निवासी अभिषेक सिंह शामिल हैं।

लौट रहे थे भवनाथपुर

जानकारी के अनुसार शनिवार को भवनाथपुर विधानसभा क्षेत्र में हुए मतदान के बाद गढ़वा स्थित कृषि उत्पादन बाजार समिति परिसर में बनाए गए वज्रगृह में ईवीएम (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) सील की जा रही थी। भवनाथपुर से भाजपा प्रत्याशी भानु प्रताप शाही के भांजे प्रशांत सिंह ईवीएम सील होने के बाद देर रात को स्कॉर्पियो से भवनाथपुर लौट रहे थे। गढ़वा से लौटने के दौरान सभी लोग भाजपा नेता कोरगा निवासी अजय सिंह के यहां चाय पीने के लिए रुकगए। यहां से रविवार के तड़के करीब सवा चार बजे भवनाथपुर के लिए चले। इसी दौरान परसवान गांव में बिजली सब स्टेशन के निकट श्रीबंशीधर नगर की ओर से आ रहे एक ट्रक से स्कॉर्पियो की जोरदार टक्कर हो गई। टक्कर इतनी जोरदार थी कि स्कॉर्पियो के परखच्चे उड़ गए। हादसे में प्रशांत समेत चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। गंभीर रूप से घायल बिहार के औरंगाबाद निवासी अभिषेक सिंह की मौत इलाज के लिए रांची के रिम्स ले जाने के दौरान रास्ते में हो गई।

भाग निकला ट्रक ड्राइवर

घटना के बाद ट्रक चालक गाड़ी सड़क किनारे खड़ा कर वहां से भाग निकला। इसी बीच, रास्ते से गुजर रहे सांसद प्रतिनिधि श्रीबंशीधर नगर निवासी शिवकुमार पांडेय ने इसकी जानकारी श्रीबंशीधर नगर के एसडीपीओ अजित कुमार को दी। वहीं, घटना के बाद गुजर रहे एक कंटेनर चालक की मदद से चक्का खोलने वाले लिफ्टर से स्कॉर्पियो के गेट का लॉक तोड़कर प्रशांत सिंह, उमा सिंह तथा अभिषेक को गाड़ी से बाहर निकाला गया। तब तक पुलिस वहां पहुंच चुकी थी और भानु के भांजे प्रशांत समेत गाड़ी से निकाले गए तीन लोगों को सदर अस्पताल गढ़वा भेजा गया। यहां चिकित्सकों ने प्रशांत सिंह तथा उमा सिंह को मृत घोषित कर दिया। साथ ही गंभीर रूप से घायल अभिषेक को प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए रिम्स रेफर कर दिया। गाड़ी में फंसे दो अन्य चेतन गिरि और गाड़ी चला रहे प्रशांत सिंह उर्फ ¨टकू के शव को गैस कटर से काटकर गाड़ी से निकाला गया।

अस्पताल पहुंचे भानु

सूचना मिलते ही विधायक भानु प्रताप शाही अपने पिता पूर्व मंत्री लाल हेमेंद्र प्रताप देहाती के साथ सदर अस्पताल पहुंचे। देहाती अपने नाती प्रशांत सिंह का शव देखकर फफक कर रोने लगे। वहीं भानु प्रताप भी भांजे प्रशांत समेत अन्य लोगों का शव देखते ही दहाड़ मारकर फूट-फूटकर रोने लगे, जबकि हेमेंद्र प्रताप देहाती इतने सदमे में थे कि रह-रहकर बेहोश हो जा रहे थे। जैसे-जैसे इस घटना की जानकारी लोगों को मिलती गई, लोगों की भीड़ सदर अस्पताल में जुटने लगी। लोग भानु प्रताप शाही तथा इनके पिता को ढांढस बंधा रहे थे। कई राजनीतिक दलों के नेता व कार्यकर्ता भी पहुंचे थे। इधर, सभी मृतकों के शव पोस्टमार्टम किए जाने के बाद उनके परिजन को सौंप दिया गया।

-----------------

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.