नेताजी को उचित सम्मान नहीं मिला, उनके जन्मदिन को देश नायक दिवस के रूप में मनाएंगे: ममता बनर्जी

Subhash Chandra Bose Jayanti 2021 नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर पश्चिम बंगला ममता बनर्जी ने कहा कि नेताजी को उचित सम्मान नहीं मिला। ऐसे में उनके जन्मदिन को देश नायक दिवस के रूप में मनाएंगे।

Updated Date: Sat, 23 Jan 2021 04:21 PM (IST)

कोलकाता (एएनआई)। Subhash Chandra Bose Jayanti 2021 देश में शनिवार को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने श्याम बाजार से कोलकाता के रेड रोड तक मार्च निकाला है। इस दाैरान उन्होंने कहा कि नेताजी को उनका उचित सम्मान नहीं मिला है। ऐसे में उनकी जयंती को पराक्र दिवस नहीं बल्कि 'देश नायक दिवस' के रूप में मनाएंगे। उन्होंने कहा कि नेताजी जैसा कोई देशभक्त नहीं रहा है। उन्होंने राष्ट्रगान के लिए टैगोर के 'जन गण मन' का समर्थन किया। उन्होंने 'जय हिंद &यका नारा दिया। नेताजी एक महान दार्शनिक थे। उन्होंने आजादी से पहले योजना आयोग और भारतीय राष्ट्रीय सेना की कल्पना की थी लेकिन नेताजी को उनका उचित सम्मान नहीं मिला।

We have observed 'Deshnaayak Divas' today. Rabindranath Tagore called Netaji 'Deshnaayak'. What is this 'Parakram': Mamata Banerjee, West Bengal CM, on birth anniversary celebrations of Subhash Chandra Bose https://t.co/rADN6Czgcw

— ANI (@ANI) January 23, 2021


देश नायक के रूप में संबोधित किया
केंद्र सरकार की जोरदार तरीके से आलोचना करते हुए सीएम ममता बनर्जी ने कहा, वे नेताजी का सम्मान करने का दावा करते हैं, लेकिन योजना आयोग को खत्म कर दिया। मुझे नहीं पता कि क्यों? मुख्यमंत्री ने कहा, हम नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती को देश नायक दिवस के रूप में मनाएंगे। यह एक महान इतिहास पर आधारित है। रवींद्रनाथ टैगोर ने नेताजी को देश नायक के रूप में संबोधित किया।

We will build an Azad Hind Monument. We will show how it will be done. They've spent thousands of crores in building statues & a new parliament complex: West Bengal CM Mamata Banerjee https://t.co/rADN6Czgcw

— ANI (@ANI) January 23, 2021
जयंती समारोह के लिए एक समिति बनाई
ममता ने कहा कि हमने नेताजी की 125 वीं जयंती समारोह के लिए एक समिति बनाई। अमर्त्य सेन, अभिजीत बनर्जी और प्रख्यात हस्तियां साल भर चलने वाले समारोह के लिए समिति का हिस्सा हैं। उन्होंने नेताजी सुभाष विश्वविद्यालय और जय हिंद वाहिनी शुरू करने की भी घोषणा की। इसके साथ ही कहा कि हम उनके जन्मदिन के बारे में जानते हैं लेकिन मृत्यु के बारे में नहीं जानते। यह बहुत ही दर्दनाक है।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.