परीक्षा पे चर्चा पीएम बोले बच्चों के रिपोर्ट कार्ड को विजिटिंग कार्ड न बनाएं पैरेंट यहां जानें कैसे कम करें तनाव

2019-01-29T12:29:03Z

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ‘परीक्षा पे चर्चा’ 2 0 की। इस दाैरान उन्होंने तनावरहित परीक्षा एवं संबंधित पहलुओं पर संबोधित किया। इस कार्यक्रम में स्कूली छात्रों शिक्षकों एवं अभिभावकों ने पीएम से कर्इ सवाल भी पूछें। यहां देखें पीएम ने कैसे दिए उनके सवालों के जवाब

कानपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नई दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम को संबोधित किया। खास बात तो यह है कि परीक्षा पर चर्चा में देश ही नहीं विदेश से भी बच्चों ने भाग लिया है। इस दाैरान पीएम नरेंद्र माेदी ने सबसे पहले पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिज को याद करते हुए कहा कि आज वह हम सबको छोड़कर हमेशा के लिए चले गए हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तनाव-रहित परीक्षा एवं संबंधित पहलुओं पर चर्चा करने के लिए बच्चों से सीधे रूबरू हुए। पीएम से स्कूली छात्रों, शिक्षकों एवं अभिभावकों एक नहीं कर्इ सवाल किए। पीएम मोदी ने इस दाैरान स्टूडेंट्स से कहा कि यहां मैं किसी को उपदेश देने नहीं बल्कि आपके जैसा, आपकी स्थिति वाला पल जीना चाहता हूं।

बच्चों के रिपाेर्ट कार्ड को अपना विजिटिंग कार्ड न बनाएं

प्रधानमंत्री मोदी से एक टीचर ने पूछा कि पैरेंट्स को लगता है कि परीक्षा से ही बच्चों का भविष्य बनता और बिगड़ सकता है। एेसे में हम पैरेंट्स से इस संबंध में क्या कहें। इसके साथ ही एक स्टूडेंट ने भी पैरेंट्स और टीचर्स की उम्मीदों को लेकर सवाल पूछा कि उनकी उम्मीदों से काफी प्रेशर होता है। इस पर पीएम ने कहा कि परीक्षा का महत्व होता है इसलिए मैं यह नहीं कहूंगा कि छोड़ो यार जो होगा देखा जाएगा। हालांकि इस दाैरान यह सोचना चाहिए कि यह परीक्षा एक क्लास की है न कि जिंदगी की। परीक्षा के बाहर भी बहुत बड़ी दुनिया होती है। इसलिए बच्चों पर हद से ज्यादा प्रेशर नहीं बनाना चाहिए। पीएम ने पैरेंट्स को यह भी सलाह दी कि वाे बच्चों के रिपाेर्ट कार्ड को अपना विजिटिंग कार्ड न बनाएं।

#WATCH Live from Delhi: PM Modi interacts with school students at Pariksha Pe Charcha 2.0 https://t.co/4ckSzC7yn0

— ANI (@ANI) January 29, 2019


टेक्नोलॉजी बच्चों को रोबोट नहीं अच्छा इंसान बनाए

वहीं एक मां मधुमिता ने ऑनलाइन गेम्स से जुड़ा एक सवाल पूछा। उन्होंने कहा कि उनका बच्चा पहले पढ़ने में काफी तेज था लेकिन अब ऑनलाइन गेम्स के चलते वह पढ़ाई में ध्यान कम देता है। इस पर पीएम ने हंसते हुए पूछा कि क्या वह  PUBG वाला है क्या? इसके बाद समझाते हुए कहा कि बच्चों का गेम खेलना समस्या भी है और समाधान भी है। हम अगर चाहें कि हमारा बच्चा टेक्नोलॉजी से दूर चला जाए तो इसका मतलब है कि हम उसे पीछे की आेर ढकेल रहे हैं। एेसे में पैरेंट्स उसे टेक्नोलॉजी का उपयोग करने का तरीका बताएं आैर उस पर नजर रखें कि टेक्नोलॉजी आपके बच्चों को रोबोट नहीं अच्छा इंसान बनाए। इसके साथ ही बच्चों ने आैर भी कर्इ बेसिक सवाल पूछें जिनका पीएम ने बखूबी जवाब दिया।

गणतंत्र दिवस : राजपथ पर किसी ने रचा इतिहास तो किसी ने दिखाए स्टंट, यहां देखें पीएम से लेकर खास मेहमान तक की एक झलक


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.