हेल्थ रैंकिंग में रांची सेहतमंद बाकी शहरों का ये रहा हाल

2019-06-03T11:40:17Z

रांची के लिए भी एक और गुड न्यूज है हेल्थ रैंकिंग में अपने शहर को सेहतमंद बताया गया है

ranchi@inext.co.in
RANCHI :
रांची के लिए भी एक और गुड न्यूज है. हेल्थ रैंकिंग में अपने शहर को सेहतमंद बताया गया है. नीति आयोग, भारत सरकार की ओर से निर्धारित स्वास्थ्य मानकों पर राज्यस्तरीय वार्षिक स्वास्थ्य रैंकिंग में अपने शहर को दूसरा स्थान मिला है. आयोग द्वारा निर्धारित स्वास्थ्य से संबंधित 27 सूचकांक व सभी जिलों के फाइनेंशियल ईयर 2018-19 की उपलब्धि को शामिल करते हुए ये रैंकिंग तैयार की गयी है. रैंकिंग तैयार करने में एचएमआईएस और एनएफएचएस के डेटा का उपयोग किया गया है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से राज्य के सभी जिलों के सिविल सर्जन को इस संबंध में लेटर जारी कर सूचकांक की समीक्षा तथा इसमें सुधार करने की दिशा में आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है.

हर माह जारी होगा सूचकांक

इस फाइनेंशियल ईयर में हर महीने के लिए सूचकांक जारी किये जायेंगे, इस दिशा में सभी सिविल सर्जन को जिले की प्रगति का जायजा लेने को कहा गया है. साथ ही जिलास्तर पर प्रखंडवार सूचकांक तैयार करने को भी कहा गया है ताकि कम उपलब्धि वाले प्रखंडों को चिन्हित कर उसमें सुधार किया जा सके.

उपलब्धि के आधार पर रैंकिंग

स्वास्थ्य से संबंधित 27 सूचकांक में ये रिपोर्ट शामिल हैं. जैसे जांच के लिए रजिस्टर्ड प्रेगनेंट महिलाओं में से जांच सुविधा पा रही गर्भवती महिलाओं का प्रतिशत, हीमोग्लोबिन जांच के लिए गर्भवती महिलाओं का प्रतिशत, जन्म में लिंगानुपात, एसबीए के सहयोग से घर में होने वाली डिलिवरी का प्रतिशत, कम वजन वाले जन्मे बच्चों का प्रतिशत इत्यादि शामिल हैं.

वार्षिक रैंकिंग में जिलों का स्थान

1. लोहरदगा

2. रांची

3. पूर्वी सिंहभूम

4. बोकारो

5. पलामू

6. खूंटी

7. सिमडेगा

8. गोड्डा

9. लातेहार

10.सरायकेला

11.देवघर

12.दुमका

13.हजारीबाग

14.गुमला

15.जामताता

16.साहिबगंज

17.रामगढ़

18.गढ़वा

19.गिरिडीह

20.कोडरमा

21.पाकुड़

22.पश्चिमी सिंहभूम

23.धनबाद

24.चतरा

Posted By: Prabhat Gopal Jha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.