दस साल बाद अधीक्षक से फिर बन गये क्लर्क

2015-09-10T07:00:02Z

स्टेट गवर्नमेंट के ऑर्डर पर 12 कर्मचारियों का हुआ डिमोशन

संस्कृत यूनिवर्सिटी में डिक्लेयर हुआ लिस्ट, गवर्नमेंट को दी इंफॉर्मेशन

VARANASI

संपूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी एडमिनिस्ट्रेशन ने रिजर्वेशन रूल्स के तहत प्रमोट हुए क्ख् कर्मचारियों का डिमोशन कर दिया है। डिमोशन की लिस्ट बुधवार को जारी कर दी गई है। इसकी सूचना गवर्नमेंट को भी प्रेषित कर दी गई है। इस प्रकार करीब दस साल तक विभिन्न पदों पर सर्विस करने वाले कर्मचारी एक बार फिर पुरानी वाली कुर्सी पर पहुंच गए हैं। बताया जाता है कि तत्कालीन रिजर्वेशन रूल के तहत कई कर्मचारी क्लर्क से अधीक्षक तक पहुंच गए थे। अब फिर वह क्लर्क व असिस्टेंट बन गए हैं।

कर्मचारी हुए तैनात

रजिस्ट्रार वीके सिन्हा की ओर से जारी डिमोशन की लिस्ट में अशोक कुमार को अधीक्षक से कनिष्ठ सहायक, जगदीश प्रसाद को अधीक्षक ने क्लर्क बना दिया गया है। इसी तरह सीनियर असिस्टेंट संतोष कुमार सिंह, मनोज कुमार, विष्णु राम, अंजली, देवी दयाल, रणजीत कुमार भारती तथा कनिष्ठ सहायक विरेंद्र राम व मनबोध राम को ‌र्क्लक पद पर डिमोशन कर दिया गया है। इसी प्रकार कार्यालय पंडित राम कुमार भी क्लर्क पद पर पदावनत हो गए हैं। डिमोशन को लेकर एक कैटगरी के कर्मचारियों में निराशा छा गई है।

विद्यापीठ में तैयार हो रही लिस्ट

संपूर्णानंद संस्कृत यूनिवर्सिटी में डिमोट हुए कर्मचारियों को फिलहाल कोई आर्थिक क्षति नहीं होगी। इस तरह के कर्मचारियों को सिर्फ पद का नुकसान हुआ है। वहीं फाइनेंस डिपार्टमेंट के अनुसार इन कर्मचारियों को लंबे समय में आर्थिक क्षति होने की संभावना है। वहीं दूसरी ओर महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में भी करीब आधा दर्जन कर्मचारी नये रिजर्वेशन रूल के तहत डिमोट हुए हैं। काशी विद्यापीठ में भी ऐसे कर्मचारियों की लिस्ट तैयार हो रही है। लिस्ट फाइनल होते ही कर्मचारियों को पुराने पद पर तैनात कर दिया जाएगा।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.