टूरिस्ट लाचार कैसीनो में अब भी करोड़ों का कारोबार

2018-12-29T06:00:28Z

- नेपाल में इंडियन करेंसी के बड़े नोट बैन होने से परेशान टूरिस्ट

- कैसीनो के धंधे में नहीं कोई कमी, बड़े नोटों से ही काम चला रहे संचालक

GORAKHPUR: पड़ोसी देश नेपाल के अचानक इंडियन करेंसी के बड़े नोटों को बैन करने से नेपाल घूमने के शौकीनों को तो करेंसी की व्यवस्था करने में माथापच्ची करनी पड़ रही है। लेकिन वहां चलने वाले कैसीनो के धंधे की सेहत पर इस बैन का कोई फर्क नहीं पड़ा है। सूत्रों की मानें तो नेपाल में डेली भारत के बड़े नोटों की माया से करोड़ों का वारा-न्यारा हो जा रहा है। कैसीनो संचालक खुद ही कस्टमर्स के बड़े नोटों की अदला-बदली कर ले रहे हैं ताकि उनके धंधे में दिक्कत न हो। हालांकि अगर यहां के लोग नेपाल के कैसीनो में पहुंचने के पहले ही बड़े नोटों के साथ पकड़े जाते हैं तो उनपर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है।

नए साल में गोरखपुराइट्स को भाता नेपाल

नए साल में हुई छुट्टियों में घूमने के लिए गोरखपुर में नजदीक स्थित नेपाल सबसे अच्छा ऑप्शन माना जाता है। पोखरा, काठमांडू समेत नेपाल में कई ऐसी जगहें हैं जहां गोरखपुर सहित आसपास के शहरों से लोग जाते हैं। हाल ही में अचानक नेपाल सरकार द्वारा भारत के दो हजार, 500 और 200 के नोट बैन कर दिए गए। जिसके चलते यहां घूमने जाने वाले लोगों को अब सौ-सौ के नोट ही कैरी करने पड़ रहे हैं।

करेंसी एक्सेंज के धंधे में तेजी

सौ के नोटों के साथ ही इंडियन नोटों को नेपाली करेंसी में कनवर्ट करने के धंधे में भी तेजी आई है। गोरखपुर के बैंक रोड और बॉर्डर के पास सोनौली में करेंसी बदली जा रही हैं। इसके बदले दुकानदार दो प्रतिशत तक फायदा कमा रहे हैं। सूत्रों की मानें तो लोगों को इसके लिए दस हजार पर दो प्रतिशत कमीशन का भुगतान तक करना पड़ रहा है।

कैसीनो में कोई टेंशन नहीं

वहीं, नेपाल के भैरहवां में कैसीनो खुलने के बाद से गोरखपुर समेत दिल्ली और मुंबई से भी शौकिन लोग यहां पहुंचते हैं। भैरहवां में स्थिति ये है कि जहां पहले यहां एक ही कैसीनो हुआ करता था, अब भीड़ और फायदा देख चार और नए कैसीनो खुल गए हैं। सूत्रों की मानें तो कैसीनो में हर दिन 50 से 60 लाख की इनकम होती है। वहीं महीनों का करोड़ों का कारोबार नेपाल में इंडियंस के भरोसे चल रहा है। इन कैसीनोज में नेपाल के लोगों को घुसने की परमिशन तक नहीं है। यहां केवल अदर कंट्री के लोग ही जा सकते हैं। लिहाजा हर दिन सैकड़ों लोग तो केवल गोरखपुर से ही जाकर लाखों रुपए का वारा-न्यारा करते हैं।

कैसीनो के लिए बाकायदा जाती बस

सूत्रों के अनुसार कैसीनो का धंधा गोरखपुर से ही पनप रहा है। यहां पर रेग्युलर जुआरी हैं जिनका नेपाल के कैसीनो में मोबाइल नंबर से लगाए घर का अड्रेस तक दर्ज है। गोरखपुर के इन शौकीनों को कोई तकलीफ न हो इसका भी नेपाल के कैसीनो संचालक खुब ध्यान रखते हैं। नेपाल का एक नामी कैसीनो संचालक तो डेली गोरखपुर में एक बस खड़ी करता है जो केवल कैसीनो के शौकीनों को नेपाल तक ले जाती और छोड़ती है।

बॉक्स

29 को आरबीआई के एजीएम की मीटिंग

करेंसी मैनेजमेंट को लेकर आरबीआई के असिस्टेंट जनरल मैनेजर 29 दिसंबर को गोरखपुर समेत आसपास के 10 जिलों के चेस्ट ऑफिसर के साथ मीटिंग करेंगे। गोरखपुर में होने वाली इस मीटिंग में महाराजगंज, सिद्धार्थनगर, बलिया, संतकबीर नगर, देवरिया, कुशीनगर, गाजीपुर, मऊ और बस्ती के चेस्ट ऑफिसर मौजूद रहेंगे।

कोट्स

नेपाल जाना जितना ही आसान था अब उतना ही कठिन होता जा रहा है। करेंसी बदलने की प्रॉब्लम टेंशन दे रही है।

- अनुराग अग्रवाल, बिजनेसमैन

पोखरा और काठमांडू घूमना अच्छा लगता है। इस बारे भी जाने का प्लान है लेकिन सौ-सौ की नोट ले जाने में परेशानी होगी।

- सिंधूजा अरोरा, प्रोफेशनल

हर बार नए साल में नेपाल जाते थे। इस बार करेंसी बदलने की टेंशन से सोचना पड़ रहा है कि नेपाल में पैसे अगर कम पड़ गए तो कहां जाएंगे।

- मंयक अरोरा, बिजनेसमैन

वर्जन

बैकों में सौ-सौ की नोटों की कोई कमी नहीं है। बैंक से लोग सौ-सौ की नोट बिना किसी चार्ज के ले सकते हैं।

- महेश प्रसाद गुप्ता, लीड बैंक अधिकारी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.