UN Budget Crunch बजट की कमी के कारण इस सप्ताहांत में भी बंद रहेगा संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय

2019-10-19T12:19:03Z

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय बजट की कमी के चलते इस सप्ताहांत में भी बंद रहेगा। बता दें कि इस तरह की समस्या इसलिए पैदा हुई है क्योंकि कुछ देशों ने अभी तक अपना फंड नहीं दिया है।

वाशिंगटन (एएनआई)। न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय बजट की कमी के चलते इस सप्ताहांत में भी बंद रहेगा। संगठन ने ट्विटर पर कहा, 'न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय  बिल्डिंग को चल रही आर्थिक तंगी के कारण इस सप्ताहांत (शनिवार-रविवार) में भी बंद कर रखा जाएगा। क्या आपके देश ने इस साल के नियमित संयुक्त राष्ट्र के बजट में अपना योगदान दिया है?' संयुक्त राष्ट्र द्वारा साझा किए गए एक दस्तावेज के मुताबिक, 131 सदस्य देशों ने अपने नियमित बजट असेसमेंट का पूरा भुगतान किया है। वहीं, कुल में से, केवल 34 सदस्यों ने संयुक्त राष्ट्र के फाइनेंसियल रेगुलेशन में निर्देशित 30-दिन की अंतिम अवधि के भीतर अपने नियमित बजट असेसमेंट का पूरा भुगतान किया है।
भारत ने समय पर किया बकाया का भुगतान

11 अक्टूबर को, संयुक्त राष्ट्र में भारत के राजदूत और स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा था कि भारत उन 35 देशों में से एक है जिन्होंने समय पर संयुक्त राष्ट्र को अपने सभी बकाया का भुगतान किया है। समय पर देय भुगतान करने वाले अन्य देशों में कनाडा, सिंगापुर, भूटान, फिनलैंड, न्यूजीलैंड और नॉर्वे भी शामिल हैं। संयुक्त राष्ट्र के कुल 193 सदस्य हैं। बता दें कि 2018-2019 के लिए संयुक्त राष्ट्र का परिचालन बजट 5.4 बिलियन डॉलर के करीब है। इसमें पीसकीपिंग ऑपरेशन का पैसा शामिल नहीं है।

Modi Xi Summit: पीएम मोदी के साथ चेन्नई में अनौपचारिक बैठक के लिए चीन से भारत रवाना हुए राष्ट्रपति चिनफिंग

सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहा संयुक्त राष्ट्र
वहीं भारत ने इस साल 23,253,808 डॉलर का योगदान दिया है। यह ध्यान देने वाली बात यह कि युद्धग्रस्त सीरिया अंतिम देश था, जिसने संगठन को 30 दिनों के अंतिम अवधि के अंत तक अपने बकाया का भुगतान किया था। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र फिलहाल लगभग एक दशक में सबसे खराब आर्थिक संकट का सामना कर रहा है और वह अगले महीने अपने अधिकारियों को वेतन का भुगतान करने में सक्षम नहीं हो सकता है।


Posted By: Mukul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.