मर्डर के इरादे से आए थे बदमाश

Updated Date: Tue, 22 Sep 2020 06:48 AM (IST)

- घायल बेटी को परिजन ले गए लखनऊ, डेड बॉडी का हुआ क्रिमिनेशन

- शाहपुर एरिया में बदमाशों ने मां-बेटी पर दागी थी गोली, कई बिंदुओं पर जांच

GORAKHPUR: शाहपुर एरिया के बशारतपुर मोहल्ले में स्कूटी से बेटी संग घर लौट रही महिला हेड मास्टर के मर्डर में पुलिस खाली हाथ है। कुछ लोगों को हिरासत में लेने के बाद पुलिस अधिकारियों ने जल्द से जल्द वारदात का पर्दाफाश किए जाने के संकेत दिए हैं। नामजद आरोपियों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। घटना में 12 फिट रास्ते के विवाद के इतर भी कुछ बिंदुओं पर जांच जारी है। इलेक्ट्रॉनिक सíवलांस के जरिए पुलिस शूटर्स तक पहुंचने की कोशिश में जुटी है। सोमवार की देर शाम तक जांच से साफ हो गया था कि मर्डर के इरादे से ही बदमाश आए थे। उनके टारगेट पर मां-बेटी दोनों रही या सिर्फ मां की जान लेने का इरादा था। इस बात की जानकारी बदमाशों के पकड़े जाने पर हो सकेगी। उधर मेडिकल कॉलेज में एडमिट किशोरी को परिजन उपचार और देखभाल के लिए लखनऊ लेकर चले गए। पोस्टमार्टम के बाद महिला की डेड बॉडी का अंतिम संस्कार कराया गया।

मां की मौत, बेटी गंभीर

रविवार की दोपहर पौने 12 बजे बशारतपुर, रामजानकी नगर मोहल्ले में रहने वाली 40 साल की निवेदिता मेजर डेविना अपनी बेटी डेलसिया संग स्कूटी से घर लौट रही थीं। राजीव नगर मोड़ पर बाइक सवार बदमाशों ने मां-बेटी को निशाना बनाकर गोलियां दागीं। हमले में निवेदिता की मौत हो गई। गंभीर हाल उनकी बेटी को मेडिकल कॉलेज में एडमिट कराया गया। निवेदिता कुशीनगर जिले के सुकरौली ब्लॉक स्थित प्राइमरी स्कूल, बेंदुआर में हेड मास्टर थीं। सोमवार को लखनऊ में रहने वाले रिश्तेदार मेडिकल कॉलेज में एडमिट डेलसिया को लखनऊ लेकर चले गए। उधर पोस्टमार्टम के बाद निवेदिता मेजर डेविना का अंतिम संस्कार कराया गया।

नामजदगी, स्कूल और अन्य बिंदुओं पर पड़ताल

घटना की तह तक पहुंचने के लिए पुलिस ने एरिया में लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले हैं। घटनास्थल पर महिला का पर्स, रुपए, मोबाइल और चेन मिलने की वजह से पुलिस ने लूट की बात खारिज कर दी है। यह भी कहा जा रहा है कि लूट के लिए हवाई फायरिंग काफी है। चार-पांच गोली किसी को मारने की बात गले नहीं उतर रही। हालांकि इस मामले में महिला के पति मनीष की तहरीर पर ज्ञानू तिवारी, मूली सिंह, सरगिरी तिवारी के खिलाफ नामजद और दो अज्ञात के खिलाफ लूट की कोशिश के लिए हत्या, हत्या की कोशिश दहशत फैलाने के धाराओं में केस दर्ज किया गया था। निवेदिता के नए मकान पर 12 फिट के रास्ते का विवाद ज्ञानू तिवारी से चल रहा है। घटनास्थल की जांच के बाद पुलिस ने महिला के संबंधों, स्कूल के विवाद सहित अन्य बिंदुओं की छानबीन की है। इससे कंफर्म हुआ है कि शूटर टारगेट करके निकले थे। उन्होंने रेकी करने के बाद वारदात को अंजाम दिया।

इस घटना में विभिन्न बिंदुओं पर जांच पड़ताल की जा रही है। लूट के इरादे की पुष्टि नहीं हो पा रही है। बदमाशों ने इत्मीनान के साथ हमला किया। इसके पीछे क्या वजह है। जल्द ही इसका पर्दाफाश कर दिया जाएगा।

रत्नेश सिंह, सीओ गोरखनाथ

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.