गोरखपुर में राप्ती और रोहिन लाल

Updated Date: Fri, 24 Jul 2020 10:02 AM (IST)

- राप्ती 75 और रोहिन 69 सेमी बह रही है ऊपर

- गोरखपुर में लगातार बना हुआ है बाढ़ का खतरा

GORAKHPUR: गोरखपुर में बाढ़ का खतरा लगातार बढ़ रहा है। पानी लगातार बढ़ने से गांव इसकी आगोश में समाते जा रहे हैं। हालत यह हो गई है कि महज दो दिनों में 10 गांव नदियों के पानी की चपेट में आ चुके हैं। वही वॉटर लेवल लगातार बढ़ने से आसपास के गांव में खतरा बना हुआ है। कैंपियरगंज तहसील के चांदीपुर में नया टोला गांव पानी से घिर जाने से तहसीलदार की मौजूदगी में दो बड़ी नाव लगाई गई। वहीं, नेकवार-बोहावार तटबंध और मैलानी बंधे के साथ ही नौसढ़ कॉलोनी, बसावनपुर रिंग बांध पर भी कटान हो रही है। जिम्मदारों को इसकी सूचना मिलने के बाद यहां पर मरम्मत कराई गई है।

राप्ती और रोहिन सभी खतरे से ऊपर

गोरखपुर की नदियों का वाटर लेवल घाघरा में बाढ़ का पानी बढ़ने से भी चढ़ जाता है। इस वक्त अयोध्या पुल और तुर्तीपार भी लाल निशान के ऊपर नदी बह रही है। मुखलिसपुर में कुआनो खतरे के निशान के बिल्कुल करीब पहुंच चुकी है, हालांकि अब इसमें उतार शुरू हो गया है। वहीं, बर्डघाट में राप्ती और त्रिमुहानी घाट में रोहिन नदी ने लाल निशान के ऊपर हैं और इन सभी नदियों में चढ़ाव का सिलसिला जारी है। राप्ती जहां खतरे के निशान से 75 सेमी ऊपर बह रही है। वहीं रोहिन भी खतरे के निशान से 69 सेमी ऊपर है।

39 गांव प्रभावित, लगी 64 नांव

गोरखपुर और आसपास में नदियों का जलस्तर बढ़ने से जिम्मेदारों की टेंशन बढ़ गई है। लगातार नदियों का पानी गावों को अपनी आगोश में ले रहा है। दो दिन में 10 और नए गांव पानी की चपेट में आ गए हैं। अब प्रभावित गावों की संख्या 39 हो गई है। इसको देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से 64 नांव लगाकर लोगों के लिए व्यवस्था की जा रही है। इसमें सबसे ज्यादा गोरखपुर सदर विभिन्न एरियाज में 31 नावें लगाई गई है। सहजनवां में 23 नावें लगी हैं। बांसगांव और खजनी में 3-3 और कैंपियरगंज में 3 व चौरीचौरा में 1 नाव तैनात की गई है। 86 बाढ़ चौकियां क्रियाशील है।

शाम चार बजे तक नदियों का जलस्तर

नदी जगह डेंजर लेवल 21 जुलाई 23 जुलाई

घाघरा अयोध्या पुल 92.73 मीटर 92.84 मीटर 92.96 मीटर

घाघरा तुर्तीपार 064.01 मीटर 064.22 मीटर 64.45 मीटर

राप्ती बर्डघाट 074.98 मीटर 075.28 मीटर 75.73 मीटर

रोहिन त्रिमोहिनीघाट 082.44 मीटर 082.50 मीटर 83.13 मीटर

कुआनो मुखलिसपुर 78.65 मीटर 78.00 मीटर 78.01 मीटर

राप्ती और रोहिन का पानी बढ़ रहा है। अब 39 गांव प्रभावित हैं, जहां लोगों के आने-जाने के लिए 64 नाव की व्यवस्था की गई है। सदर में 31 नावें लगाई गई हैं। लगातार टीम अलर्ट हैं।

- गौतम गुप्ता, जिला आपदा विशेषज्ञ

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.