हॉस्पिटल की आया समेत 12 को कोरोना

2020-05-24T11:15:02Z

- आठ प्रवासी श्रमिक भी संक्रमित, संख्या बढ़कर 323 हुई

LUCKNOW: शहर में कोरोना का प्रकोप कम होने का नाम नहीं ले रहा है। शनिवार को भी रेलवे हॉस्पिटल की आया समेत 12 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें से आठ प्रवासी श्रमिक भी शामिल हैं। वहीं एक मरीज कानपुर का निवासी है।

जिला नोडल ऑफिसर कोविड डॉ। केपी त्रिपाठी के मुताबिक एक रेलवे अस्पताल की आया में वायरस की पुष्टि हुई है। इसके अलावा आठ प्रवासी मजदूर हैं। यह बीकेटी, निगोहा, मलिहाबाद व आलमबाग के क्वारंटीन सेंटर में थे। वायरस की पुष्टि के बाद सभी को लोहिया संस्थान में भर्ती कराया गया है। वहीं गोमती नगर निवासी एक युवती में भी वायरस की पुष्टि हुई है। वह अभी मुंबई से लौटी है। इसके साथ ही एक महिला कानपुर के फहीमाबाद निवासी है।

शहर में 323 हुई मरीजों की संख्या

शहर में कोरोना पॉजिटिव मरीज मरीज बढ़कर 323 हो गए हैं। वहीं 16 दिन से वायरस की चेन पर ब्रेक नहीं लगा है। इससे पहले सात मई को कोरोना के केस शून्य आए थे।

तीन प्राइवेट हॉस्पिटल की यूनिट बंद

अपने यहां इलाज कर चुके एक पेशेंट में कोरोना संक्रमण की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार को तीन प्राइवेट हॉस्पिटल में हड़कंप मच गया है। जिसके बाद सीएमओ के आदेश पर इन तीनों हॉस्पिटल की संबंधित यूनिट को दो से तीन दिन बंद करने और सेनेटाइज के निर्देश दिया गया है। सभी हॉस्पिटल के संबंधित डॉक्टरों और मेडिकल स्टॉफ को क्वारंटीन कर दिया गया है। गौरतलब है कि बादशाह नगर रेलवे अस्पताल में कार्यरत 45 वर्षीय महिला को सीने में दर्द की शिकायत के बाद आलमबाग के एक बड़े प्राइवेट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। कोरोना टेस्ट कराने के बाद जब उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो मरीज को लोकबंधु अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। प्राइवेट हॉस्पिटल के प्रशासन का कहना है कि कार्डियोलॉजी विभाग तीन दिन सेनेटाइज करने के लिए बंद किया गया है। हॉस्पिटल के डॉक्टर और स्टॉफ को क्वारंटीन कर दिया गया है। वहीं दूसरी ओर गोमती नगर के हैनीमैन चौराहे के पास एक प्राइवेट हॉस्पिटल में कानपुर निवासी 35 वर्षीय महिला सांस संबंधित समस्या सहित बीमारी की वजह से भर्ती कराया गया था। इलाज के बाद महिला की हालत में सुधार होने पर शनिवार को डिस्चार्ज किया जाना था, लेकिन इस दौरान हॉस्पिटल द्वारा प्राइवेट लैब में कराई गई कोरोना जांच में वो पॉजिटिव निकली। जिसके बाद महिला को कोविड-19 हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं संबंधित यूनिट को सीएमओ के निर्देश पर बंद करके सैनिटाइज कराया जा रहा है।

आपरेशन की बाद आई रिपोर्ट

इसके अलावा एक अन्य प्राइवेट हॉस्पिटल में प्रतापगढ़ निवासी एक मरीज का ऑपरेशन हुआ था। जिसके बाद उसे डिस्चार्ज करके वापस भी भेज दिया गया था, लेकिन शनिवार को आई जांच रिपोर्ट में उसमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। जिसके बाद तुरंत ही प्रतापगढ़ सीएमओ को इसके बारे में सूचना दी गई। वहीं संबंधित यूनिट को सेनेटाइजेशन होने तक बंद करवा दिया गया है।

बॉक्स

पीजीआई में पहला प्लाज्मा डोनेट

पीजीआई में कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके 19 वर्षीय तालिब खान ने संस्थान में आकर अपना करीब 500 एमएल प्लाज्मा डोनेट किया। इससे पहले कोरोना से ठीक हो चुके किसी व्यक्ति ने पीजीआई में प्लाज्मा डोनेट नहीं किया था। पीजीआई के निदेशक प्रो। आरके धीमान ने डोनर तालिब खान को कोरोना वारियर का सर्टिफिकेट दिया।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.